पवित्र ग्रंथ कुरान एवं नबी मोहम्मद साहब के बारे में अपशब्द बखान करने वाले नरसिंहानंद और वसीम रिजवी आदि पर देश द्रोही का मुकदमा लगाकर फांसी की सजा*


 *पवित्र ग्रंथ कुरान एवं नबी मोहम्मद साहब के बारे में अपशब्द बखान करने वाले नरसिंहानंद और वसीम रिजवी आदि पर देश द्रोही का मुकदमा लगाकर फांसी की सजा*

*रमजान के महीने में 100 आदमियों को नमाज़ तरावीह पढ़ने की इजाजत हो- राजु गादरे*

मेरठ:- मुस्लिम पवित्र ग्रंथ कुराने पाक एवं इस्लाम मजहब  के नबी  आशिक  ए खुदा धर्मगुरु मोहम्मद साहब के बारे में अपशब्द कहने और देश में आपसी भाईचारे को खत्म करने के आरोप में लगातार बयान देने और मुस्लिम समाज की आस्था को ठेस पहुंचाने के चक्कर में देश की शांति व्यवस्था कायम करने के लिए स्वामी नरसिंहा नंद और वसीम रिजवी आदि षड्यंत्र कारियों पर देश द्रोही का मुकदमा लगाकर उनको फांसी की सजा दी जाए।

बहुजन मुक्ति पार्टी के लोगों ने जिलाधिकारी मेरठ के द्वारा महामहिम माननीय राष्ट्रपति, उत्तर प्रदेश राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के नाम एक ज्ञापन दिया गया जिसमें पवित्र माहे रमजान मे कोविड-19 को मद्देनजर रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने मस्जिद मंदिर गुरुद्वारा चर्च आदि धार्मिक स्थलों पर 5 से ज्यादा लोगों की अनुमति बंद कर दी इसी को लेकर मुस्लिम समाज में ही नहीं तमाम उत्तर प्रदेश के हर वर्ग में रोष व्याप्त है और बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे अपने व्हाट्सएप में कहा कि समाज मैं अन्य बहुत सारे कार्य चल रहे हैं लेकिन धार्मिक स्थलों पर पाबंदी लगाना उचित नहीं है जबकि बंगाल बिहार अन्य जगह पर चुनाव को देखा गया और वहां कोविड-19 के सारे उल्लंघन किए गए आज पवित्र माहे रमजान के वक्त में सरकार का फैसला लेना उचित नहीं है जबकि व्यापार मजदूर सभी वर्ग बेरोजगारी के आलम में जूझ रहे हैं ऐसे वक्त में यह फैसला ठीक नहीं है और देश का माहौल बिगाड़ने वाले षड्यंत्र कार्यों पर एक धार्मिक किताब जिसमें देर जबर 23 को भी बदलाव नहीं किया जा सकता है और परसों से यह पवित्र ग्रंथ मौजूद पूरी दुनिया में है लेकिन भारत में कुछ षड्यंत्रकारी धार्मिक मुद्दों को लेकर अपने यंत्र रचा रहे हैं जो सरासर गलत है ज्ञापन देने वालों में आरडी गादरे प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष जिला अध्यक्ष ओमवीर सिंह सत्येंद्र गौतम मौलाना शाहनवाज मुफ्ती काजिम अहमद मुफ्ती जावेद लुकमान सैफी मनोज कुमार एडवोकेट रियासत अली एडवोकेट मुकेश एडवोकेट उमेश सैफी मुशाहिद शाहिद मौलाना शोएब एहतेशाम राय इमरान राय इमरान कुरेशी मोहम्मद खुर्शीद आदि लोग मौजूद थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग