एथिकल हेल्थकेयर के लिए डॉक्टरों का गठबंधन (एडीईएच) डॉक्टरों ने 22 जनवरी को अस्पताल बंद करने का विरोध किया

 एक बयान में एलायंस ऑफ डॉक्टर्स फॉर एथिकल हेल्थकेयर (एडीईएच) ने मांग की है कि राम लला की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर 22 जनवरी को अस्पताल खुले रहने चाहिए।  बयान में कहा गया, ''हम अचानक इस घोषणा से निराश हैं कि 22 जनवरी 2024 को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर अस्पतालों को बंद करने के लिए कहा गया है।  जब कोई अस्पताल अचानक बंद हो जाता है तो यह मरीजों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण होता है।  चिकित्सा सेवा एक मानवीय उद्देश्य है।  सरकार का ऐसा निर्देश चिकित्सा नैतिकता के खिलाफ है।  निःसंदेह व्यक्तिगत स्तर पर कोई भी व्यक्ति यदि चाहे तो इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जा सकता है।''

“हम संबंधित डॉक्टर सरकार से अस्पतालों को खुला रखने और उन्हें सामान्य रूप से काम करने देने की अपील करते हैं ताकि उन लोगों की सेवा की जा सके जिन्हें चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता है।  हम सरकार से यह भी अनुरोध करते हैं कि वह अब से सभी धार्मिक आयोजनों को सामान्य अवकाश के बजाय वैकल्पिक अवकाश के रूप में रखने पर विचार करे।''




 ADEH के कार्यकर्ता जो बयान पर हस्ताक्षरकर्ता हैं उनमें शामिल हैं:




 डॉ अरुण गद्रे - स्त्री रोग विशेषज्ञ, महाराष्ट्र


 एम: 9822246327




 डॉ अरुण मित्रा - ईएनटी सर्जन, लुधियाना, पंजाब


 एम: 9417000360




 डॉ बाबू केवी - नेत्र रोग विशेषज्ञ, कन्नूर, केरल


 डॉ. शकील उर रहमान- शिशु रोग विशेषज्ञ, पटना


 डॉ. जैकब जॉन, एमएस, एमसीएच - न्यूरोसर्जन और निदेशक चिकित्सा सेवाएं, अष्टमुडी अस्पताल और ट्रॉमा केयर सेंटर, कोल्लम, केरल।


 डॉ.जे.अमलोर्पवनाथन, वैस्कुलर सर्जन, चेन्नई


 डॉ. जीएस ग्रेवाल-चिकित्सक, लुधियाना, पंजाब


 डॉ. जॉर्ज थॉमस, हड्डी रोग विशेषज्ञ, चेन्नई


 डॉ. संतोष करमरकर - बाल रोग विशेषज्ञ, मुंबई


 डॉ गगनदीप सिंह - आर्थोपेडिक सर्जन लुधियाना


 डॉ. मोनिका थॉमस - न्यूरोलॉजिस्ट, नई दिल्ली


 डॉ. संजीब मुखोपाध्याय - स्त्री रोग विशेषज्ञ - कलकत्ता


 डॉ. जमीला कोशी - मनोचिकित्सक


 डॉ शक्ति कुमार प्रभाकर - मनोचिकित्सक


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश