*पीलीभीत बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने एक बार फिर अपनी ही पार्टी पर हमला बोला*

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से शाहिद खान की रिपोर्ट


उद्योगपतियों का माफ किया जा रहा लोन, गरीबों को चुकाने के लिए बेचने पड़ रहे शरीर के अंग: सांसद 

-जनसंवाद कार्यक्रम में बोले सांसद वरुण गांधी  

जिले में दो दिवसीय दौरे पर आए सांसद ने मंगलवार को ललौरीखेड़ा क्षेत्र में की जनसभाएं

पीलीभीत। सांसद वरुण गांधी मंगलवार को जिले में दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे। खमरिया पुल पर कार्यकर्ताओं ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। उसके बाद वह ललौरीखेड़ा क्षेत्र के डंडिया भिसौड़ी, भगवंतपुर, नांद पसियापुर, ऐमी, गहलुईया, गोंछ, कनाकोर, उमरसड़, रमपुरा उझैनिया, कल्याणपुर व शिवपुरिया आदि गांदों में जनसंवाद कार्यक्रम को संबो​धित किया। 

सांसद वरुण गांधी ने लोन व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि तीन दिन पहले दिल्ली के एक अखबार में पढ़ा था कि यूपी के बुलंदशहर के एक किसान ने ढ़ाई लाख रुपये का लोन चुकाने के लिए अपने शरीर के दो अंगों को बेचना पड़ा। वहीं दूसरी एक खबर छपी थी कि देश के सबसे बड़े उद्योगपतियों के 70 हजार करोड़ रुपये का लोन माफ किया गया है। सांसद बोले, जिनके पास अथाह पैसा है, उनका लोन माफ किया जाता है, लेकिन जिसके पास ढाई लाख रुपये नहीं है, उनको लोन चुकाने के लिए अंग बेचने पड़ते हैं। यह कैसा भारत है। क्या गरीब का लोन माफ नहीं होना चाहिए। 

सांसद बोले, गरीबों को बहुत सारी सुविधाएं दिए जाने की बात कहीं जा रही है, लेकिन यह सिर्फ कहने की ही बात है। हकीकत में गरीबों की कोई भी सुनने वाला नहीं है। सांसद ने कहा कि अगर हम आम इंसान के संघर्ष को लेकर मौन हो जायेंगे, तो हमारा लोकतंत्र मौन की तरफ बढ़ जाएगा। यह सच्चाई है कि हिन्दुस्तान में बराबर की व्यवस्था कभी नहीं रही है। यह भी सच्चाई मौजूदा समय में लोगों के सपने तो बड़े हो गए हैं, लेकिन साकार करने के लि रास्ते बड़े नहीं हैं। वही वजह है कि देश में हिंसा बढ़ती जा रही है। लोगों के बीच खाई बढ़ती जा रही है। सांसद ने कहा कि चार दिन पहले जब वह पीलीभीत आए थे तो डीएम से लोन देने वालों की सूची मांगी। सूची देखी तो बहुत कम लोगों को लोन दिया जाना पाया। मैंन लोगों से पूछा कि क्या आप लोगों को लोन की जरूरत नहीं हैं, तो गरीबों ने बताया कि लोन की जरूरत तो है, लेकिन देता कोई नहीं है। पांच छह बार दौड़ाने के बाद रुपयों की डिमांड की जाती है। जनसंवाद कार्यक्रमों में सांसद ने जनसमस्याएं भी सुनी।

कार्यक्रम के दौरान सांसद सचिव कमलकांत, पीआरओ विवेक चौहान, अमित गंगवार, दीपक पाण्डेय, लवकुश यादव, अविषेक पांडेय, रुपेश गंगवार, सूरज शुक्ला, रमेश लोधी, निर्दोष गंगवार, राधे गंगवार, गुड्डू गंगवार, मनोज कटियार, अमित गंगवार, बंटी मिश्रा, सतीश पांडेय, सुमित मिश्रा, बबलू वर्मा, बालकराम वर्मा, नन्हेंलाल कश्यप, राजेश गंगवार, बुद्धि गंगवार, सुरेश श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश