विशाल पानी की टंकी गिरने के मामले में लापरवाही के आरोप में गुरुवार को रेलवे के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई

पश्चिम बंगाल के बर्धमान रेलवे स्टेशन पर बुधवार को एक विशाल पानी की टंकी गिरने के मामले में लापरवाही के आरोप में गुरुवार को रेलवे के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 30 से अधिक लोग घायल हुए थे।


हादसे के तीन मृतकों में से एक माफ़िज़ा खातून के पति अब्दुल माफ़िद शेख ने एफआईआर दर्ज कराई है। इस बीच राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने 15 हजार गैलन क्षमता वाली पानी टंकी के ढहने की जांच शुरू कर दी है। इस घटना को लेकर पीड़ितों के परिवारों और स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है।इस बीच, भारतीय रेलवे के अधिकारियों ने पीड़ित परिवार के सदस्यों से संपर्क किया जो इस त्रासदी के लिए मुआवजे की मांग कर रहे थे। रेलवे अधिकारियों ने मुआवजे को मंजूरी देने के लिए उनसे जरूरी दस्तावेज मांगे हैं। अधिकारियों ने कहा कि दस्तावेज मिलने के बाद ही मुआवजे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

इस हादसे के बाद स्टेशन परिसर में बनाए गए बुनियादी ढांचे के रखरखाव की कमी को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। इससे पहले इसी साल बर्धवान रेलवे स्टेशन पर ही इसी तरह की एक और घटना हुई थी। यहां पर एक पुराने स्टेशन की इमारत की बालकनी गिरने से दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश