बीएचयू विश्वविद्यालय वाराणसी की घटना के विरोध में समाजवादी महिला सभा की ओर से कैंडल मार्च निकाला गया।

 रिपोर्ट-मुस्तकीम मंसूरी

मोदी योगी की सरकार में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, का नारा विज्ञापनों तक सीमित है धरातल पर नहीं, शांति सिंह

बरेली, योगी राज्य में बीएचयू विश्वविद्यालय वाराणसी में बंदूक की नोक पर छात्रा के साथ की गई छेड़छाड़ एवं अश्लील हरकत किए जाने के विरोध में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव व प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल एवं समाजवादी महिला सभा की प्रदेश अध्यक्ष रीबू श्रीवास्तव के निर्देशानुसार आज उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में समाजवादी महिला सभा की ओर से प्रत्येक जनपद में कैंडल मार्च निकल गया।


इसी क्रम में आज समाजवादी महिला सभा बरेली की जिला अध्यक्ष श्रीमती शांति सिंह के नेतृत्व में बीएचयू विश्वविद्यालय वाराणसी में छात्र के साथ बंदूक की नोक पर हुई छेड़छाड़ एवं अश्लील हरकत की घटना के विरोध में  कैंडल मार्च निकल गया। आज निकल गए कैंडल मार्च के समापन के बाद समाजवादी महिला सभा किस जिला अध्यक्ष शांति सिंह ने कहा की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली मोदी सरकार में बेटियां सुरक्षित नहीं है उन्होंने कहा सरकार में बैठे हुए जनप्रतिनिधि सरकार के संरक्षण में बेटियों के साथ जो घिनौना कृत कर रहे हैं आज बीएचयू विश्वविद्यालय बनारस की घटना भी उसी का परिणाम है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नारी सुरक्षा नारी सम्मान के बड़े-बड़े दावे तो करते हैं परंतु बेटियों के साथ हो रही घटनाओं पर गंभीरता पूर्वक संज्ञान नहीं लेते हैं यही कारण है कि उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में पुलिस प्रशासन और योगी का खौफ अपराधियों के दिल से निकल चुका है लगातार प्रदेश भर में नारी उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ती जा रही है। जिन्हें रोकने में योगी सरकार और लोगों की पुलिस पूरी तरह से नाकाम साबित हुई है। श्रीमती शांति सिंह ने कहा बीएचयू विश्वविद्यालय वाराणसी की घटना अत्यंत शर्मनाक है इस घटना से उत्तर प्रदेश की महिलाओं में विशेष कर की बेटियों में भय का वातावरण पैदा हो गया है। उन्होंने कैंडल मार्च में शामिल तमाम महिलाओं का आवाहन करते हुए कहा की लोकसभा 2024 के चुनाव में सभी महिलाओं को भाजपा सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए लाम बंद होकर उत्तर प्रदेश में सपा को मजबूत करना होगा। परिस्थितियों बहुत गंभीर हो चुकी हैं पूरे प्रदेश में अराजक तत्व बेल लगाम होकर महिलाओं बेटियों के साथ घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं और योगी सरकार की पुलिस कानून व्यवस्था के फर्जी आंकड़े पेश करके वह भाई लूटने में लगे हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश