दरोगा पर गोली चलाने वाले ने फिर खड़ा किया सट्टे का नेटवर्क पुलिस रिकार्ड में शातिर,फिर भी खुलेआम दे रहा पुलिस को चुनौती

पीलीभीत।

 शहर में इन दिनों उद्योग की तरह सट्टे का कारोबार पनप रहा है। पुलिस की खामोशी का सटोरिया भरपूर फायदा उठा रहा हैं। नए व्यापार के रूप में सट्टा सामने आया जहाँ उत्तराखंड में बैठकर शहर का एक नामचीन सटोरिए का कारोबार बड़े पैमाने पर चल रहा है। इन दिनों इस अवैध कारोबार में उसकी खूब बढ़ोत्तरी हो रही है। उस पर अंकुश लगाना पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है सिपाही स्तर पर सटोरिए की सेटिंग है। जिसका वह भरपूर फ़ायदा उठा रहा है। सटोरिए ने तत्कालीन आसाम रोड चौकी प्रभारी और पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से फायर कर दिया था। जिसमे तत्कालीन चौकी प्रभारी अचल कुमार बाल बाल बच गए थे। पुलिस ने सटोरिए को बमुश्किल 50 हज़ार रुपये नगदी सहित थाना सुनगढ़ी क्षेत्र के नौगवा चौराहा रेलवे क्रॉसिंग से गिरफ्तार किया था। इसके बाद पुलिस ने जानलेवा हमले सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर सटोरिए को जेल भेजा था। कुछ दिनों तक जेल में रहने के बाद वह जमानत पर छूट आया। इसके बाद  वह फिर सट्टे के अवैध कारोबार में जुट गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश