हज़रत शाह मुहम्मद सक़लैन मियां हुजूर के विसाल पर मुस्लिम मजलिस की ओर से ख़िराजे हकीदत पेश की।

 रिपोर्ट-वीरेंद्र बिष्ट

बरेली, पीरो-मुर्शिद हज़रत शाह मुहम्मद सक़लैन मियां हुज़ूर क़ादरी मुजद्दिदी साहिबे सज्जादा ख़ानक़ाहे शराफ़तिया, हज़रत शाह मुहम्मद सक़लैन मियां हुजूर के विसाल पर ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव/अखिल भारतीय मंसूरी समाज के प्रदेश अध्यक्ष मुस्तकीम मंसूरी ने ख़िराजे हकीकत पेश करते हुए कहा की हज़रत शाह मुहम्मद सक़लैन मियां हुजूर के विसाल की खबर से दुनिया भर के उनके मुरीदैन में ग़म की लहर दौड़ गई, हजारों की तादाद में लोग उनके आख़िरी


दीदार को उमड़ पड़े, आज बरेली से एक महान शख्सियत का रुख़सत होना दुनिया भर के करोड़ों सक़लैनीयों व उनके चाहने वालों को ग़मगीन कर गया। मुस्तकीम मंसूरी ने कहा हज़रत शाह सक़लैन मियां हुजूर के ज़ेरे निगरानी ख़ानक़ाहे शराफ़तिया का निज़ाम, लंगर ख़ाना,ख़िदमते ए ख़ल्क़, ग़रीब ओ ग़ुरबा की हमदर्दी, मोहताजो की मदद, गरीब बेटियों की शादीयों से लेकर हर बुनियादी काम किए जाते थे। जो हमेशा याद रखे जाएंगे। मुस्तकीम मंसूरी ने कहा की हज़रत शाह सक़लैन मियां हुजूर की ज़ात मज़हरे फ़ज़ान ए ग़ौसुल आज़म,जानशीने

मुजद्दिद,अलफ़ेसानी है। हज़रत शाह मुहम्मद सक़लैन मियां हुजूर मशाइख़े सिलसिले के सच्चे वारिस व नायब ‌हैं। ऐसी महान वली सिफ़्त शख्सियत को दिल की गहराइयों से ख़िराजे हकीदत पेश करते हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश