भारत के तेजी के साथ विश्व शक्ति बनने की ओर बढ़ते कदम, मोमना बेगम ,

 रिपोर्ट -मुस्तकीम मंसूरी

नई दिल्ली,भारत को पहली बार जी-20 समिट की मेजबानी करने का अवसर मिला है. 9-10 सितंबर को देश की राजधानी दिल्ली में दुनिया के 20 ताकतबर देशों से शक्तिशाली नेता इकट्ठा हुए जिनके साथ अर्थव्यव्स्था समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई l इन देशों की ग्लोबल इकोनॉमी में 80 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी है. इसके अलावा G-20 देशों में दुनिया का कुल 85 प्रतिशत प्रोडक्शन और अंतरराष्ट्रीय व्यापार में समूह देशों की हिस्सेदारी 75 फीसदी ह।

मोमना बेगम ने बताया कि भारत के लिए ये जी-20 शिखर सम्मेलन कई मायनों में अहम है. पहला तो ये कि पहली बार दुनिया मेजबान भारत की संस्कृति से और भी ज्यादा रूबरू हो रही है. वहीं पीएम मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान कह चुके हैं. कि भारत जल्द दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा और 2047 तक भारत विकसित राष्ट्र होगा।

जी-20 शिखर सम्मेलन के जरिए भारत दुनिया के सामने उसी रूप को दिखाना चाहता है। जिसमें वो लगातार विकास करते हुए विकसित राष्ट्र बनने का सपना देख रहा है l जिससे भारत को इसे सदस्य देशों के साथ व्यापारिक संबंध और मजबूत करने का मौका मिलेगा। एक्सपर्ट के मुताबिक जी-20 देखों से भारत के इंफ्रास्ट्रचर सेक्टर में अच्छा खास इन्वेस्टमेंट आ रहा है l जिसके और भी बढ़ने की उम्मीद है l तुर्की यूरोप अमेरिका कनाडा जैसे देशों का वीजा लगने में भारतीयों के लिए आसानी पैदा करेगा और व्यापार को बढ़ाएगा जिससे हमारे देश तरक्की करेगा l चाहे मंगलयान हो या कोविड जैसी महामारी में 140 करोड़ देशवासियों की रक्षा करना या फिर चंद्रयान-3  हर मामले में भारत औरों से बेहतर है। दुनिया के बाकी देश भी अगर भारत के साथ मिलकर काम करेंगे। वह निश्चित तौर पर भारत को विश्व गुरु का दर्जा प्राप्त होगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना