पत्रकार के भेष में है कुछ ऐसे लोग जो पत्रकारिता का रुतबा दिखाकर गलत कार्य कर रहे हैं|

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए रूबी न्यूटन की रिपोर्ट,

सरकारी दफ्तर, अस्पताल, मठ मंदिर आश्रम, व्यापारिक प्रतिष्ठान आदि स्थलो पर जाकर पत्रकारिता की धौंस दिखाने वाले तथ्य हिन खबरों को प्रकाशित कर लोगों की मानहानि करने वाले अखबार एवं न्यूज़ चैनलों की जांच हेतु प्रेस काउंसिल आफ इंडिया को पत्र लिखने की तैयारी


नई दिल्ली--भारतीय मीडिया फाउंडेशन एवं अंतर्राष्ट्रीय मीडिया अधिकार महामोर्चा के नई दिल्ली स्थित केंद्रीय कार्यालय से जारी बयान में भारतीय मीडिया फाउंडेशन के राष्ट्रीय प्रवक्ता कृष्णकांत जायसवाल एवं भारतीय मीडिया फाउंडेशन के संस्थापक एके बिंदुसार ने संयुक्त रूप से बताया कि उत्तर प्रदेश सहित कई जिलों एवं राज्यों में कुछ पत्रकार के भेष में ऐसे लोग हैं जो समाचार पत्र पत्रिकाओं एवं न्यूज़ चैनल का दुरुपयोग कर रहे हैं जिनका मकसद सिर्फ पत्रकारिता का रुतबा दिखाकर लोगों का मानहानि करना एवं उनसे मोटी रकम वसूलने जैसा कार्य करते हैं।

उन्होंने बताया कि मीडिया जगत में कुछ इस तरह के गोल गिरोह संचालित है जिनके कारण हर जगह पत्रकारों की मानहानि हो रही है और पत्रकारों के ऊपर फर्जी मुकदमे भी हो रहे हैं कई कई पत्रकारों की हत्याएं भी हो गई कई कई पत्रकारों के हत्या करने के प्रयास में गोलियां भी चलने की खबरें सामने आई है।

उन्होंने बताया कि पत्रकारिता जगत में अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों का प्रवेश पत्रकारिता को बदनाम करके रख दिया है अपराध में लिप्त समाचार पत्र पत्रिकाओं एवं न्यूज़ चैनल तथा उसके तथाकथित पत्रकारों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई के लिए प्रेस काउंसिल आफ इंडिया एवं गृह मंत्रालय भारत सरकार गृह मंत्रालय राज्य सरकारों को पत्र लिखने का निर्णय लिया गया है ऐसे कई पत्रकारों एवं समाचार पत्रिका न्यूज़ चैनल को चिन्हित किया गया है जिनके पूरे मानक की जांच कराई जाएगी।

उन्होंने भारतीय मीडिया फाउंडेशन के समस्त मीडिया अधिकारियों एवं पदाधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि अपने-अपने जिला मंडल एवं राज्यों में ऐसे लोगों को चिन्हित करें जो पत्रकारिता की आड़ में काला कारनामा कर रहे हैं गुंडागर्दी कर रहे हैं संभ्रांत लोगों के मानहानि का कार्य कर रहे हैं जो प्रशासनिक अधिकारियों के कामकाज में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं ताकि उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई कराई जाए ऐसे में उन सभी समाचार पत्र-पत्रिकाओं एवं न्यूज़ चैनल के लोगों को अपराधीक प्रवृत्ति के  लोगों को अपने मीडिया संस्थान से बाहर का रास्ता दिखा देना चाहिए।

जारी बयान में भारतीय मीडिया फाउंडेशन के मीडिया अधिकारियों को प्रत्येक राज्य में महा अधिवेशन की तैयारी के लिए जी जान से लग जाने की मीडिया अधिकारियों से अपील की गई।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश