कल्याण सिंह ने श्रीराम के लिए छोड़ी थी राजगद्दी,अलीगढ़ में बोले सीएम,योगी आदित्यनाथ

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए अलीगढ़ से एडवोकेट नबी हसन की रिपोर्ट,

अलीगढ़, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि श्रीद्धेय बाबू कल्याण सिंह को जब भी पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद पर विचार व्यक्त करने का अवसर मिला तो उन्होंने हर बार इस बात को कुत्ता के साथ कहा कि पेट को


आहार मन को प्यार मस्तिक को विचार और आत्मा को संस्कार का समुच्चय की एकात्म मानववाद है। किसी के अनुसार कल्याण सिंह जी ने अपना जीवन जिया। श्रद्धेय बाबू कल्याण सिंह ने अपने लिए राजगद्दी प्राप्त करने से महत्वपूर्ण प्रभु श्री राम के चरणों में उसको समर्पित करने का कार्य किया था।

राम मंदिर के लिए जो अभियान 1990 से लेकर 1992 और उसके बाद तक चला, का परिणाम है कि आज प्रभु श्री राम की पावन जन्मभूमि अयोध्या में भगवान श्री राम के भक्त मंदिर का निर्माण हो रहा है। उन्होंने कहा जब जनवरी 2024 में पांच

सौ वर्षों का इंतजार समाप्त करके भगवान श्री राम अपने भव मंदिर में विराजमान होकर हमें आशीर्वाद दे रहे होंगे तो श्रेद्धेय बाबू जी की आत्मा को असीम संतुष्टि मिलेगी। उनकी आत्मा हमें आशीर्वाद देगी कि जिस कार्य के लिए उन्होंने राजसत्ता छोड़ी को छोड़ा था आज वह सपना साकार हुआ है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि श्रद्धेय बाबूजी की आज द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर पर हम हिंदू गौरव दिवस के रूप में उन्हें स्मरण कर रहे हैं। हम सब इस बात को जानते हैं कि पहली बार 1991 में जब कल्याण सिंह जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनी तब प्रदेश में सुरक्षा और सुशासन का माहौल था आज का दिन अद्भुत संगम का दिन है। जब विश उधमिता दिवस और नाग पंचमी का पवित्र पर्व भी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्व उधमिता दिवस पर भारत के करोड़ों रोगियों को इस बात के लिए धन्यवाद और बधाई दी कि आज पूरी दुनिया में मेक इन इंडिया की धमक बड़ी है। मुख्यमंत्री ने इस बात का विशेष रूप से उल्लेख किया कि 1991 कल्याण सिंह ने अलीगढ़ के उद्यमियों को नई पहचान देने के लिए ताला नगरी का गठन किया था। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 2017 में जब प्रदेश में भाजपा सरकार का गठन हुआ, उत्तर प्रदेश में परंपरागत उधम को बढ़ावा देने और एमएसएमई सेक्टर को नई पहचान देने के लिए ओडीओपी का कार्य प्रारंभ हुआ। उन्होंने कहा कि आज अलीगढ़ को उसके ओडीओपी के कारण वैश्विक मान्यता प्राप्त हो रही है यह कार्य इसलिए संपन्न हुआ की डबल इंजन सरकार की ताकत जब आम जनता के आशीर्वाद से आगे बढ़ती है तो हर मनोरथ पूर्ण होते हैं। आज अयोध्या में भाव मंदिर बन रहा है, वही काशी विश्वनाथ धाम ब्रज तीर्थ का विकास और विकास की सभी बड़ी परियोजनाएं जिनके बारे में कभी सोचा भी नहीं था वह सब आज मूर्त रूप लेती दिखाई देती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि बाबूजी की पुण्यतिथि के अवसर पर यूपी के सबसे बड़े कैंसर संस्थान का नामकरण श्रद्धेय बाबू कल्याण सिंह कैंसर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के रूप में किया गया है। इसके अलावा बुलंदशहर जो कभी बाबूजी की कर्मभूमि रही है, वहां निर्माण दिन मेडिकल कॉलेज भी श्रद्धेय कल्याण सिंह के नाम पर रखा गया है। इसका काम तेजी से चल रहा है आने वाले समय में बुलंदशहर और आसपास के युवाओं को उसे मेडिकल कॉलेज में प्रवेश मिलना शुरू हो जाएगा। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और बृजेश पाठक, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौधरी, राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, एटा के सांसद स्वर्गीय कल्याण सिंह के पुत्र राजवीर सिंह राजू भैया सहित केंद्र और प्रदेश के अनेक मंत्री गण, सांसद विधायक व अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना