पिरान कलियर रैन बसेरे में आवारा लड़कियों का कब्जा, पुलिस प्रशासन मौन, आखिर क्यों?

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

पिरान कलियर शरीफ ज़ायरीनों के ठहरने के लिए करोड़ की लागत से बने हैं रेनबसेरे मैं आवारा लड़कियों ने मानों कब्जा कर रखा है| यह लड़कियां रैन बसेरे से नहीं निकलती है दरगाह कर्मचारियों के निकालने पर भी, और कर्मचारियों को कहती हैं अगर हमें रैन बसेरे से निकाल लोगे तो तुमको छेड़खानी के केस में फ़सा देंगे, शायद यही वजह है



कि दरगाह कर्मचारी भी अपनी इज्जत की वजह से खामोश रहते हैं| इसलिए रैन बसेरे में रह रही आवारा लड़कियों के भी हौसले बुलंद है| एक कर्मचारी ने हिम्मत करके  इन आवारा लड़कियों को रैन बसेरे से बाहर निकालने की कोशिश भी की लेकिन यह आवारा लड़कियां बहार निकलने को तैयार नहीं हुई, उल्टे दरगाह कर्मचारी से ही बदतमीजी करने लगी, और दरगाह कर्मचारी को छेड़खानी के आरोप में फंसाने की धमकी देने लगी, इन आवारा लड़कियों का यह रूप देखकर बाहर से आने वाले जायरीन दंग रह जाते हैं| आवारा लड़कियों का यही हाल रहा तो दरगाह की आस्था को भी ठेस पहुचेंगी| सूत्रों का कहना है कि रैन बसेरे में कब्जा करने वाली आवारा लड़कियों की जानकारी पुलिस प्रशासन के साथ ही प्रशासक को भी है| रैन बसेरे पर कब्जा करने वाली दिल आवारा लड़कियों के हौसले बुलंद होने का यही कारण है|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना