भाजपा ने इस बार राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की टीम में दो मुसलमानों को भी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी है|

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

नई दिल्ली, भाजपा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा कर दी है| इस बार की टीम में दो मुसलमानों को भी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई है| गौरतलब है कि आज भारतीय जनता पार्टी ने अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की नई टीम का गठन कर दिया है| इस टीम में वैसे तो तीन दर्जन के लगभग पदाधिकारियों की घोषणा की गई है| परंतु इसमें दो मुस्लिम नाम महत्वपूर्ण है|


भाजपा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में वह उपाध्यक्ष मुस्लिम समुदाय से बनाए हैं, जिनमें से अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू ) के कुलपति रहे और वर्तमान में भाजपा के एमएलसी प्रोफेसर तारिक मंसूर व केरल के रहने वाले पूर्व सांसद एपी अब्दुल्ला कुट्टी को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है| जानिए कौन है तारिक मंसूर और अब्दुल्ला कुट्टी| प्रोफेसर तारिक मंसूर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के वर्ष 2017 में कुलपति बनाए गए थे| वर्ष 2022 में उनका एएमयू के कुलपति के पद पर कार्यकाल समाप्त हो गया था, लेकिन भाजपा जय जुड़ाव होने के कारण उनको 1 साल का सेवा विस्तार दे दिया गया था|

उसके बाद तारिक मंसूर और आरएसएस तथा भाजपा नेताओं के बीच संबंध मधुर होते चले गए| यही वजह रही कि जब उत्तर प्रदेश में विधान परिषद की सीटों के लिए प्रत्याशी तय किए जा रहे थे तब भाजपा आलाकमान ने एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मसूंर को उत्तर प्रदेश की विधान परिषद के सदस्य के रूप में चुन लिया था, हालांकि उसके बाद उम्मीद जताई जा रही थी की प्रोफेसर तारिक मंसूर को उत्तर प्रदेश सरकार में कोई महत्व विभाग मिल सकता है लेकिन आज भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में उपाध्यक्ष बनने के बाद उनके मंत्री बनने का रास्ता बंद हो गया है| इसके साथ ही भाजपा ने जिस अब्दुल्लाह कुट्टी को अपना राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है, वह मूल रूप से केरल के रहने वाले हैं| अब्दुल्लाह कुट्टी कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टी में काम कर चुके हैं| अब्दुल्ला कुट्टी 1999 व 2004 में केरल की कन्नूर लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं| किसके साथ थी वह कन्नूर विधानसभा से वर्ष 2009 में विधायक भी चुने गए थे| इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सार्वजनिक मंच से तारीफ करने के बाद अपनी पार्टी द्वारा आलोचना करने से आहत होकर एपी अब्दुल्ला कुट्टी ने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर ली थी| वह केरल में भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष के रूप में भी काम कर चुके हैं, तथा अब उनको भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में  उपाध्यक्ष बनाया गया है|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना