मणिपुर की हृदय विदारक घटना, व भयंकर हिंसा आगजनी और नरसंहार रोकने में विफल साबित हुई मणिपुर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाए, उज़मा रहमान

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट,

मणिपुर में हृदय विदारक घटना को अंजाम देने वालों और हिंसा फैलाने वालों पर रासुका लगाई जाए|

 बरेली,उत्तर प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी की प्रदेश सचिव उज़मा रहमान ने कहा कि मणिपुर में जिस तरह दानवों का नंगा नाच हो रहा है, उसके लिए मणिपुर और केंद्र की सरकार बराबर की भागीदार है, उन्होंने कहा यह कोई पहला अवसर नहीं है, जब देश में महिलाओं को अत्याचार से मुक्ति दिलाने की बजाय आतताइयों को मौन संरक्षण दिया गया है|


ऐसा बहुत बार पहले भी किया जाता रहा है, वह चाहे कठुआ, हाथरस, उन्नाव, बुलंदशहर रहा हो या फिर जंतर मंतर पर भाजपा के बाहुबली सांसद के यौन उत्पीड़न के विरुद्ध जांच की मांग को लेकर प्रदर्शन करती देश की यशस्वी बेटीयाँ हो| उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि आखिर क्या कारण है कि भारतीय संस्कृति का ढोल पीटने वाले नरेंद्र मोदी ऐसे मामलों में सदैव चुप्पी साधे रहते हैं|

कांग्रेस नेत्री उज़मा रहमान ने कहा मणिपुर में बेहद हृदय विदारक घटना जहां सड़कों पर उपद्रवी भीड़ द्वारा स्त्रियों को निर्वस्त्र कर घुमाया गया है| ऐसा कृत्य तो रावण, कंस, दुर्योधन के शासनकाल में भी नहीं हुआ था| वहां तो दुर्योधन और सुशासन को भी मात दे दी है| कांग्रेस नेत्री ने कहा तुम यंत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते, रमंते तत्र देवता का ढोल बजाते हुए भी नहीं समझ सकोगे की नारी के आंसुओं की बाढ़ में रावण, कंस, जरासंध, दुर्योधन जैसे सब डूब गए थे| यह मर्मातक वेदना  यह देखकर और भी दुखदाई हो गई की एक महिला और वह भी द्रौपदी नामधारी, हमारी राष्ट्रपति ने न महिला पहलवानों के मामले में हस्तक्षेप किया और ना ही मणिपुर की दर्दनाक स्थिति पर ही अपना मौन तोड़ा| जबकि मणिपुर में 77 दिनों से वहां भयंकर हिंसा, आगजनी और नरसंहार लगातार जारी है| कांग्रेस नेत्री ने कहा कि मणिपुर की हिंसा को रोकने और हालातों को सामान्य करने के लिए मणिपुर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाए, इसके साथ ही मणिपुर में हृदय विदारक घटना को अंजाम देने वालों और हिंसा फैलाने वालों पर रासुका लगा कर भविष्य में इस तरह की प्रायोजित घटनाओं को रोका जा सके|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश