कुल्लू में मानसून की दहाड़, अभी और आएगी बाढ़, भारी बारिश का अलर्ट जारी, सैलाब की चेतावनी

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए वीरेंद्र बिष्ट की रिपोर्ट, 

कुल्लू के काइस नाला में बाढ़ के बाद तबाही का मंजर, 

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश को लेकर जारी अलर्ट के बीच एक बार फिर से मानसून ने अपना रौद्र रूप दिखाया है। जिला कुल्लू की खराहल घाटी और जिला मुख्यालय के साथ लगने काइस नाला में बादल फटने से एक फिर जानमाल की हानि हुई है। इस दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई,


जबकि करोड़ों रुपए की संपत्ति तबाह हो गई। उधर, मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश के 10 जिलों में भारी बारिश को लेकर यलो अलर्ट जारी किया है। हमीरपुर, कांगड़ा, सिरमौर मंडी और कुल्लू जिला में बाढ़ यानी फ्लैश फ्लड की चेतावनी भी जारी की गई है। बाढ़ एवं फ्लैश फ्लड की चेतावनी को देखते हुए प्रदेशभर में लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। नदी-नालों से दूर रहने को कहा गया है। जो क्षेत्र भूस्खलन की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्रों से भी दूर रहने को कहा गया है। राज्य आपदा प्रबंधन की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में बीते दिनों हुई भारी बारिश व वर्तमान में हो रही रुक रुक कर बारिश से प्रदेश में स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है। जनजीवन अस्त व्यस्त है।हर विभाग में करोड़ों रुपए के नुकसान का आकलन है। मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश में बीते 24 घंटो में सबसे ज्यादा बारिश मंडी जिला के कटौला में हुई है। यहां पर 90 मिमी बारिश दर्ज की गई है। 

720 सडक़ें अभी भी बंद

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और भू-स्खलन के कारण दो एनएच समेत 720 सडक़ें अभी भी बंद हैं। इसके अलावा जलशक्ति विभाग की 5644 स्कीमें अभी बंद है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की के अनुसार 4635 करोड़ रुपए के नुकसान का आकलन है।

बारिश से स्कूलों-कालेजों में 80 करोड़ रुपए का नुकसान

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना