सांसद निरहुआ ने कहा था कि एयरपोर्ट छोटा हैं, उड़ान नहीं हो सकती तो कैसे डीजीसीए ने अनुमति दी

 प्रधानी से लेकर प्रधानमंत्री तक के चुनाव तक एयरपोर्ट के मुद्दे को उठाकर भाजपा चुनावी लाभ लेने की कोशिश में

आजमगढ़ 9 जुलाई 2023. आजमगढ़ से उड़ान की खबरों पर किसान नेता राजीव यादव ने कहा कि आजमगढ़ सांसद दिनेश लाल निरहुआ कहते हैं कि आजमगढ़ हवाई अड्डा बहुत छोटा है वहां से उड़ान नहीं हो सकती तो किस आधार पर डीजीसीए से अनुमति मिलने की ख़बर के साथ नवंबर में उड़ान होने की खबरें आ रहीं हैं.

किसान नेता राजीव यादव ने कहा कि जब सांसद निरहुआ कह रहे हैं कि वहां से उड़ाने नहीं हो सकती तो किस आधार पर डीजीसीए ने अनुमति दी. प्रधानी के चुनाव से लेकर प्रधानमंत्री तक के चुनाव तक एयरपोर्ट के मुद्दे को उठाकर भाजपा चुनावी लाभ लेने की कोशिश कर रही है. कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही कहते हैं कि हवाई अड्डे पर 500 करोड़ रूपए केंद्र सरकार जारी कर चुकी है. जबकि मंदुरी स्थित हवाई अड्डे के बाहर लगे बोर्ड पर लिखा है कि 1821.49 लाख रूपए और जीएसटी खर्च हुए हैं. कृषि मंत्री के बयान और रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के अंतर्गत नो फ्रिल्स एयरपोर्ट आजमगढ़ के निर्माण में लगे रूपए में काफी अंतर है. यहाँ सवाल है कि मंत्री और उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड आजमगढ़ द्वारा लगाए गए बोर्ड में दर्ज राशि में भारी अंतर क्यों है? यह भ्रष्टाचार की तरफ इशारा करता है.


किसान नेता ने कहा कि एक बार फिर से नवंबर में फ्लाइट उड़ाने की ख़बर पर सांसद निरहुआ जवाब दें. क्योंकि सांसद निरहुआ ने कहा था कि एयर कंपनियां आजमगढ़ नहीं आना चाहतीं हैं क्योंकि एयरपोर्ट छोटा है. सवाल है कि डीजीसीए ने इस छोटे एयरपोर्ट को जहाँ से एयर कम्पनियां कहती हैं कि उड़ान नहीं हो सकती को कैसे अनुमति दी. यह नागरिकों के जीवन से जुड़ा गंभीर मसला है. मानक के अनुरूप न होने के बावजूद किसी एयरपोर्ट को लाइसेंस या अनुमति कैसे दी जा सकती है.


राजीव यादव

9452800752

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश