मथुरा सांसद हेमा मालिनी ने यमुना खादर क्षेत्र में अवैध निर्माण पर रोक लगाने को सीएम योगी को लिखा पत्र|

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए एडवोकेट नबी हसन की रिपोर्ट, 

हेमा मालिनी के सीएम योगी को सीधे पत्र लिखने पर माना जा रहा है, कि वह मथुरा के अधिकारियों को लेकर गुस्से में है|

मथुरा की सांसद और अभिनेत्री हेमा मालिनी ने सीएम योगी को पत्र लिखा है उन्होंने सीएम योगी से नदी के खादर क्षेत्र में अवैध निर्माणों पर रोक लगाने का अनुरोध किया है| सांसद हेमा मालिनी ने पत्र ने कहा है कि यमुना में बाढ़ से कई गांव और मथुरा व वृंदावन में खादर क्षेत्र में अवैध रूप से विकसित आवासीय कालोनियां डूब गई है|


सरकार को इनके बचाव और राहत कार्यों पर करोड़ों रुपए खर्च करने पड़ते हैं, और वहां रहने वालों को भी नुकसान झेलना पड़ता है| हेमा मालिनी के सीएम योगी को सीधे खत लिखने पर माना जा रहा है कि वह मथुरा के अधिकारियों को लेकर गुस्से में है| पत्र में सांसद ने कहा कॉलोनाइजर बिल्डर और भूमाफिया यमुना नदी के खादर में पिछले कुछ साल से लगातार अवैध निर्माण कर रहे हैं| खादर में निर्माण गतिविधियां पूरी तरह से प्रतिबंधित है| लेकिन यह लोग भोली भाली जनता को सस्ते घरों व प्लाटों का लालच देकर बसाते चले आ रहे हैं| सांसद के प्रतिनिधि ने शुक्रवार को यह जानकारी दी| उन्होंने पत्र के हवाले से बताया कि सांसद ने ऐसी अवैध निर्माण गतिविधियों पर प्रभावी रोक लगाने की मांग करते हुए कहा है कि स्थानीय रजिस्ट्री विभाग राजस्व हासिल करने की आड़ में यमुना खादर की जमीनों की बिक्री पर रोक नहीं लगा पा रहा है| कहा कि इस मामले में प्रभावी रोक लगाने के लिए स्थानीय जिला प्रशासन, विकास प्राधिकरण,नगर निगम,व जिला पंचायत आदि स्थानीय निकाय कदम उठाएं| सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि रजिस्ट्री कार्यालय को भी खादर की भूमिका पंजीकरण ना करने के लिए आवश्यक आदेश निर्देश जारी किए जाएं|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*