सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों का मामला कायदे कानून दरकिनार तबादले पर रार|

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की   खा़स रिपोर्ट, 

पति पत्नी के एक जिले में ट्रांसफर का  नियम भी नहीं माना, तबादला सूची के खिलाफ हाई कोर्ट जाने की तैयारी में शिक्षक,

Mustaqeem
Mansoori

प्रयागराज, सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों के तबादले के लिए 2 साल तक चली कानूनी लड़ाई के बाद भी मनमानी हो गई| अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक सुरेंद्र कुमार तिवारी की ओर से 30 जून को जारी 1193 शिक्षकों तबादला सूची पर विवाद खड़ा हो गया है| आरोप है कि कायदे कानून दरकिनार कर मनमाने तरीके से शिक्षकों के तबादले किए गए हैं| असंतोष शिक्षक अब हाई कोर्ट में याचिका करने की तैयारी में है| माध्यमिक शिक्षा विभाग ने 12 जुलाई 2021 को ऑनलाइन ट्रांसफर के लिए 10 से 56 रिक्तियां प्रदर्शित कीजिए जिसके सापेक्ष में लगभग 2250 शिक्षकों ने आवेदन किया था एक शिक्षक राकेश कुमार प्रजापति की याचिका करने पर प्रक्रिया 19 अगस्त 2021 को रोक दी गई और कौन है 2 साल तक कानूनी लड़ाई के बाद तबादले को हरी झंडी मिली लगभग 2250 शिक्षकों बा प्रधानाचार्य में से 668 की फाइल शिक्षा निदेशालय पहुंची और 356 का ऑनलाइन जबकि 837 ऑफलाइन ट्रांसफर किया गया पीड़ित शिक्षकों ने ऑफलाइन तबादले की आड़ में खेल किए जाने का आरोप लगाया है| के एस इंटर कॉलेज हाथरस के प्रवक्ता जीव विज्ञान अवधेश सुनने हैं अयोध्या के एसएसवी इंटर कॉलेज में तबादले के लिए 2021 में सामान्य वर्ग में ऑनलाइन आवेदन किया था उनकी पत्नी अयोध्या में ही कार्यरत है और नियमावली के अनुसार उन्हें 100 गुणंक देते हुए उनका  तबादला होना चाहिए था| उन्होंने हनुमंत इंटर कॉलेज सुल्तानपुर का दूसरा विकल्प भी दिया था| 30 जून को जारी तबादला सूची में एसएसबी इंटर कॉलेज अयोध्या के पद को ओबीसी का मानते हुए उनका तबादला नहीं किया गया| खास बात यह है कि उन्होंने सुल्तानपुर का जो दूसरा विकल्प दिया था उस पर भी उनका तबादला न करके यहां 10 गुणांक वाले  एक शिक्षक का तबादला कर दिया| जिला पंचायत इंटर कॉलेज मानपुर प्रयागराज में सहायक अध्यापक हिन्दी का एक पद था यही कार्यरत थ एक शिक्षकों के प्रति जोकि कासगंज में तैनात हैं| ऑनलाइन आवेदन किया था, 100 गुणांक पति  पत्नी और अतिरिक्त 10 गुणांक( छात्रों को बोर्ड परीक्षा में 80% से अंक अधिक मिलने) के आधार पर तबादला होना चाहिए था लेकिन इससे पद के सापेक्ष दोहन शिक्षकों का तबादला कर दिया गया| अमरोहा से अनिल कुमार पाल और हाथरस से राम कैलाश प्रजापति का इस पद पर ट्रांसफर हो गया| अनिल की पत्नी कानपुर में तैनात हैं पर उन्हें पति पत्नी को एक जिले के लिए मिलने वाले गुणांक का लाभ दे दिया गया| इसी तरह मिर्जापुर के शिवाजी इंटर कॉलेज में ही हुआ यह सहायक अध्यापक हिंदी ओबीसी के एक पद पर दो  शिक्षकों सत्येंद्र कुमार यादव और रविंद्र कुमार का तबादला किया गया है| तिलक इंटर कॉलेज कोटला प्रयागराज में प्रवक्ता इतिहास के पद पर तबादले के लिए पूरे प्रदेश से आधा दर्जन से अधिक शिक्षकों ने ऑनलाइन आवेदन किया था ऑनलाइन तबादला सूची में यह पद सामान्य वर्ग  का था| लेकिन 30 जून को जारी सूची में ओबीसी वर्ग के शकील अहमद का ट्रांसफर हो गया शकील अहमद ने ऑफलाइन आवेदन किया था|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश