मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कुर्बानी करते हुए कानून का विशेष ध्यान रखें।

 लखनऊ। धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने शनिवार को अपने एक संदेश में कहा है कि इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया ने ईद उल अजहा (बकरीद) के अवसर पर कुर्बानी के लिए 29 जून से एक जुलाई तक कुर्बानी की तारीख तय की है।मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कुर्बानी करते हुए कानून का विशेष ध्यान रखें।


प्रतिबंधित जानवरों की कुर्बानी नहीं करनी है और खुले में या गली मोहल्लों में ये कुर्बानी नहीं होगी। कुर्बानी करने के लिए प्राइवेट स्थानों को चयनित करें। जानवरों के खून को नालियों में न बहाया जाये और खून को कच्ची मिट्टी में दफन कर दिया जाये, जिससे वह खाद का काम कर सके।उन्होंने यह भी कहा है कि कुर्बानी के जानवरों के गोश्त को गरीब लोगों में अवश्य बांटे। कुर्बानी से जुड़ा कोई वीडियो न बनायें। उन्होंने आगे कहा कि बकरीद की नमाज सभी मित्रों, परिवार वालों के साथ अदा करें। नमाज भी ईदगाह में अदा करें, सड़कों पर बैठकर अदा न करें। इस मुबारक मौके पर अपने परिवार वालों के साथ ही एक दूसरे को बधाईयां दें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र