साजिशों के इस दौर में समाज और देश को दोबारा से गुलामी की जंजीरों से बचाने में सहायक बने -गादरे*

अतीक आदि की हत्या से समझें लोकतंत्र की हत्या का इसारा तानाशाही से एस सी, एस टी, ओ बी सी, अल्पसंख्यकों की आजादी को खतरा-गादरे*

मेरठ:- भारत देश में इस्लामोफोबिया पनपने चारों ओर साजिशों का दौर लोकतंत्र को खत्म कर तानाशाही रवैया से न्याय व्यवस्था पर हमला।


बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष राजुद्दीन गादरे कहा कि आज जनता के राज को जनता की वोट से शासन सत्ता में बैठे जनता के साथ न्याय व्यवस्था पर सीधा हमला किया जा रहा है। वर्तमान में चुनाव मैदान में चुनाव लडने वाले प्रत्याशी व और उनके समर्थको से गुजारिश करता हूं। कोई भी व्यक्ति एक दूसरे पर ग़लत तरीके की टिप्पणी ना करें बल्कि भाईचारा कायम करने कुछ षड्यंत्रकारियों द्वारा माहौल बिगाड़ना चाहते हैं।

  इलेक्शन के बाद सभी को एक जगह ही रहना है इस का हमें ख्याल रखने कि जरूरत है। शिक्षा, महंगाई, चिकित्सा, बेरोजगारी की मुख्य मुद्दों को जातिवाद धार्मिक भावनाएं आहत की जा रहीं हैं। हम अपने क्षेत्र में ऐसे प्रत्याशी को चुने जो जमीनी स्तर पर कार्यरत हो पढ़ा लिखा मेहनती हो लोगों के बीच का व्यक्ति होना चाहिए ७५ सालों की आजादी के बाद भी समाज में सौहार्द मोहब्बत खत्म?

    *प्यार मोहब्बत से चुनाव लड़े पांच साल के लिए क्षेत्र की फलाह के बारे में जनता को बताया जाए किस तरह क्षेत्र की समस्या को दूर किया जाएगा सभी क्षेत्र की आवाम से गुजारिश करता हूं।

   *आज बिरादरीयों में बंटने का वक्त नहीं है एक जगह हो कर सरकार में शामिल हों तभी हम कुछ कर पाएंगे* 

   देश की अखंडता के वास्ते बिरादरी वाद ना करें vote उसी प्रत्याशी को दे जो --- *आपके इलाके और आपके परिवार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा रह सके* 

    समरीन नाज़ भावी प्रत्याशी वार्ड 86 मेरठ नगर निगम ने कहा कि आपके ना होने पर भी आपकी बहन बेटी भाई बच्चों के मदद करने में सक्षम हो वोट उसको करें आप सभी लोग इस के बारे में अच्छे से जानते हैं।

       *राजुद्दीन गादरे*

     प्रदेश उपाध्यक्ष उ०प्र०

     *बहुजन मुक्ति पार्टी*

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र