दरगाह शराफतुल औलिया पर 65 वाँ छमाही तीन रोज़ा उर्से शराफ़ती 31 मार्च बरोज़ जुमा से शुरू,

 बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

शराफ़तुल औलिया ताजदारे विलायत सैय्यदना मुर्शिदना हज़रत किब्ला ओ काबा शाह मौलाना शराफ़त अली मियां अलेहिर्रहमतो वरिज़वान का 65 वां छमाही उर्स ए पाक दिनांक 9 रमज़ान उल मुबारक मुताबिक 31 मार्च बरोज़ जुमे से 11 रमज़ान उल मुबारक मुताबिक 2 अप्रैल तक मनाया जायेगा।  

उर्स के पहले दिन 31 मार्च बरोज़ जुमा सुबह में कुरआन ख्वानी होगी, दिन भर ज़ायरीन की आमद रहेगी और शाम को खानकाह शरीफ़ पर रोज़ा अफ्तार कराया जायेगा।

उर्स के दूसरे दिन 1 अप्रैल बरोज़ हफ़्ता सुबह में कुरआन ख्वानी होगी, पूरे दिन ज़ायरीन की आमद रहेगी और शाम को रोज़ा अफ्तार होगा, बाद नमाज़े तरावीह खानकाह शरीफ़ के मेहमान खाने में मीलाद शरीफ़ व नअत ओ मनकबत ख्वानी की महफिल मुनाकिद (आयोजित) होगी।

उर्स के तीसरे और आखिरी दिन 2 अप्रैल बरोज़ इतवार सुबह में कुरआन ख्वानी व दिन भर ज़ायरीन की आमद रहेगी और शाम को बाद नमाज़ अस्र 5:30 बजे कुल शरीफ़ होगा।

उर्स के तमाम कार्यक्रम खानकाह शरीफ़ पर पीरो मुरशिद हज़रत सय्यदी शाह सकलैन मियां हुज़ूर की सरपरस्ती में अदा किए जायेंगे।

उर्स में शिरकत करने के लिए हर साल मुल्क भर से बड़ी तादाद में ज़ायरीन आते हैं, इंशा अल्लाह इस साल भी बेशुमार तादाद में हिंदुस्तान के कोने-कोने से ज़ायरीन उर्स में शामिल होने आएंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र