संयुक्त किसान मोर्चा ने पूर्वी उ.प्र.के सभी किसान संगठनों से 22अक्टूबर2022 को आजमगढ़ आने के लिए किया आह्वान।

आजमगढ़।संयुक्त किसान मोर्चा  के  तत्वाधान में विविध संगठनों के साथियों ने मंदुरी हवाई पट्टी को अंतर्राष्ट्रिय हवाई अड्डे के रुप में विस्तारिकरण के नाम पर गांवों की जमीन छिनने के खिलाफ जारी सातवें दिन के भी क्रमिक धरने में शामिल होकर समर्थन दिया।





 

संयुक्त किसान मोर्चा ने पूर्वी उ.प्र.के सभी किसान संगठनों से 22अक्टूबर2022 को आजमगढ़ आने के लिए आह्वान किया ताकि यहां की की जनसमस्या से रुबरू होकर समर्थन करें।

 

धरना स्थल पर वक्ताओं में पुलिस उत्पीड़न की शिकार महिलाओं ( सुनीता व सुमित्रा) ने  12-13अक्टूबर 2022 की रात्रि के शासन-प्रशासन के दबंगई व उत्पीड़न के बारे में बात रखीं।जनसभा में जान देंगे- *जमीन नहीं देंगे* , *जमीन हमारी आपकी-नहीं किसी के बाप की*, *लडेंगे-जीतेंगे*, *कौन बनाता हिंदुस्तान-भारत का मजदूर-किसान*  आदि नारे गूंज रहे थे।

वक्ताओं ने कहा कि सरकारी व सार्वजनिक  संस्थानों को बेचने व निजीकरण करने पर तुली सरकार जनता का विश्वास खो चुकी है। कल तक  मुसलमानों के खिलाफ बुलडोजर चलाया ,अब गरीबों के खिलाफ चलाने लगा है।जगह-जगह बंजर,परती,जी.एस. जमीनों पर बसे गरीबों को बेदखल करने का नोटिस आ चुका है।  जल,जंगल व जमीन  बचाने का सवाल छत्तीसगढ़, झारखंड ,सिलगेर व हसदेव अभ्यारण्य से  होते हुए उ.प्र.  में लखीमपुर खीरी, पूर्वी उ.प्र. में कैमूर व चंदौली के मुसाखाड़ से नौगढ़,बलिया,आजमगढ़ हर जगह मौजूद हैं। हवाई पट्टी,मंडी,हाईवे,एक्सप्रेस वे ,अभ्यारण्य,सेंचुरी के नाम पर नये-नये सामंत,बड़े भूस्वामी तैयार किये जा रहे हैं।इनके विकास माडल में कि़सानों,मजदूरों को  *सबसे सस्ता व लाचार मजदूर*  बनाया जा चुका था ,अब उन्हें मान,सम्मान व स्वाभिमान से  *वंचित बंधुआ गुलाम*  बनाने चलें हैं।इसलिए जमीन का सवाल  आगे बढ़कर इंसानियत बचाने के सवाल तक जा पंहुचा है। इसके लिए हम सबको गांव-गांव अपने ग्रुप मानसिकता,पार्टी,जाति,धर्म  व लिंग के भेद से ऊपर उठकर ग्रामीण संघर्ष कमेटियों को बनाकर व्यापक जनान्दोलन की ओर बढ़ने की तरफ जाना होगा। हमारे इस आंदोलन में महिलाओं की अग्रिम पंक्ति में मौजूदगी जीत सुनिश्चित करने वाला है।

  

वक्ताओं में सुनीता,सुमित्रा, दुखहरण राम,राजीव यादव , राहुल विद्यार्थी,राजेश आज़ाद , रामनयन,विनोद यादव,अवधेश यादव,प्रमोद, आशीष उपाध्याय,सुरेश,मुन्ना लाल,राधेश्याम आदि ने अपनी बातें रखीं।अध्यक्षता दुखहरण राम और संचालन शशिकांत उपाध्याय ने किया।

       

          *जारीकर्ता-राजेश आज़ाद,दुखहरण राम,राजीव यादव,राजनेत यादव,रविन्द्रनाथ राय,रामराज*

*संयुक्त किसान मोर्चा(आजमगढ़)*


        मो.नं.9889231737

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*