मदरसा को जिहादी गतिविधियों में लिप्त होने के आरोप में पुलिस ने बुलडोजर के जरिए गुरुवार सुबह जमींदोज कर दिया।

 असम। मोरीगांव जिला के मैराबारी में अवैध रूप से चल रहे जमीउल हुदा नामक निजी मदरसा को जिहादी गतिविधियों में लिप्त होने के आरोप में पुलिस ने बुलडोजर के जरिए गुरुवार सुबह जमींदोज कर दिया। गत 28 जुलाई को मदरसे को सील किया गया था।

उल्लेखनीय है कि 28 जुलाई को मदरसा के मुफ्ती मुस्तफा अहमद समेत 8 जिहादी और उनके स्लीपर सेल के सदस्यों को गिरफ्तार किया गया था। जिहादी गतिविधियों से संबंधित तथ्यों को नष्ट करने के आरोप में मुफ्ती की पत्नी जस्मिना खातून और मुफ्ती के भाई जकारिया अहमद को पुलिस ने आज गिरफ्तार किया है।पुलिस मोरीगांव और बरपेटा जिला में जिहादी गतिविधियों से संबंधित मामलों की गंभीरता से जांच कर रही है। गिरफ्तार सभी अंसारुल बांग्ला टीम (एबीटी) के सदस्य बताये गये हैं। बरपेटा में गिरफ्तार 9 जिहादी और उनके स्लीपर सेल से पूछताछ करने के लिए एनआईए की टीम भी पहुंची हुई है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग