थाना लोनी पुलिस द्वारा फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले 04 शातिर अभियुक्त गिरफ्तार

 


प्रेस नोट

दिनांक 06.07.2022 थाना लोनी

थाना लोनी पुलिस द्वारा फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले 04 शातिर अभियुक्त गिरफ्तार

श्री मुनिराज जी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद द्वारा अपराध की रोकथाम एव अपराधियो की

गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में श्रीमान पुलिस अधीक्षक ग्रामीण गा०बाद एवं क्षेत्राधिकारी

लोनी के निर्देशन में थाना लोनी पुलिस द्वारा धोखाधडी षडयन्त्र करके फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले 04

शातिर अभि0 गण 1. आमिर उर्फ सोनू पुत्र फरमान निवासी म00. 286 ठेके के पास खन्ना नगर थाना लोनी

गा०बाद 2- इमरान पुत्र फरमान निवासी उपरोक्त 3-रवि उर्फ रौनी पुत्र रमाशंकर निवासी खुशहालपार्क

सकीना मस्जिद के पास पूजा कालोनी थाना ट्रोनिका सिटी गा०बाद 4- देवेन्द्र उर्फ राहुल पुत्र अशोक निवासी

पावी सादक पुर ईदगाह वाला रोड थाना ट्रोनिका सिटी गा०बाद मय फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले उपकरणो

के साथ चौकी क्षेत्र डाबर तालाब से गिरफ्तार किया गया। आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

पूछताछ अभि०गण

अभि0 गणो द्वारा पूछताछ पर बताया कि साहब हम लोग ज्यादा पैसा कमाने के उद्देश्य से षंडन्त्र करके फर्जी जन सेवा डाबर

तालाब में फर्जी तरीके से लोगो के आधार कार्ड बनाते है और हम लोगो से फर्जी तरीके से आधार कार्ड बनाने के ज्यादा पैसे

ऐठते है। लोग भी बैक व पोस्ट आफिस की लम्बी लाईन व समय बचाने के लिए हमसे ज्यादा पैसे 500 से 1000 रूपये तक

देकर हमसे फर्जी तरीके से आधार कार्ड बनवाते थे साहब हम लोगो को आकाश नाम का एक व्यक्ति जो अपने आप को

दिल्ली भजनपुरा स्थित इण्डियन ओवरसीज बैंक का कर्मचारी बताता था वो ही हमे आधार कार्ड बनाने के लिए लैपटाप व

अन्य उपकरण उपलब्ध कराता था और उसके द्वारा ही हमे आधार कार्ड बनाने की साईट को लागिन करता है। जिससे हम

आधार कार्ड बनाते थे जो पैसे हम कमाते आपस मे बराबर बाटँ लेते।

नाम पता गिरफ्तार अभियुक्त -


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग