दिल्ली और एनसीआर में भी अग्निपथ विरोध की लपटें पहुंचीं, नांगलोई में प्रदर्शन,

*सेना की अग्निपथ स्कीम के चलते देश भर में भारी विरोध, आगज़नी, पथराव, तोड़फोड़ और लाठीचार्ज*

*नवादा में भाजपा कार्यालय को जलाया गया*
*वन्देमातरम के नारे के साथ आगज़नी और हिंसा*
*बिहार से लेकर हिमाचल प्रदेश और हरियाणा से लेकर राजस्थान, गुरूग्राम तक विरोध और हिंसा की घटनाएं*
नई दिल्ली (अनवार अहमद नूर)
भारतीय रक्षा मंत्री की तरफ़ से चार वर्ष के लिये युवाओं को अग्निवीर के तौर पर सेना में भर्ती करने वाली नई ‘अग्निपथ’ स्कीम का  विरोध अब भयंकर और हिंसात्मक रूप ले रहा है। बिहार के साथ साथ पूरे भारतवर्ष में इसकी आग भड़कती जा रही है। आज बिहार के साथ साथ हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और गुरु ग्राम से भी हिंसा और तोड़फोड़ की खबरें आ रही हैं। यहां तक कि अब राजधानी दिल्ली तक इसकी लपट आ गई है। और नांगलोई स्टेशन पर भी लोगों ने अपना विरोध जताया।

बिहार में तो सरकारी संपत्ति का काफी नुकसान हुआ है। कई स्थानों पर रेल तक को आग के हवाले कर दिया गया है।
ग्वालियर के बिरला नगर रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ और आगज़नी की गई है।
उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रक्षामंत्री मुर्दाबाद के नारों के साथ रैली निकाली गई। बुलन्दशहर में युवाओं ने जमकर विरोध किया।
गुरु ग्राम में विरोध और हिंसा के साथ साथ दिल्ली -जयपुर हाईवे जाम किया गया।
सेना की अग्निपथ स्कीम का विरोध कर रहे युवाओं का कहना है कि “महज़ चार वर्ष के लिये भर्ती किया जाना रोज़गार के अधिकार का सरासर हनन है। युवाओं के साथ अन्याय है।
ज्ञात रहे कि देश के रक्षामन्त्री राजनाथ सिंह व सेना की तीनों कमानों के प्रमुखों ने दिल्ली में इस ‘अग्निपथ’ स्कीम का ऐलान किया है। इस ‘अग्निपथ’ स्कीम के तहत 17.5 (साढ़े सत्रह) वर्ष से लेकर 21 वर्ष तक की आयु के युवाओं को अग्निवीर के तौर पर भर्ती करने और उन्हें 4 वर्ष तक की नौकरी देने का प्रावधान है। उसके बाद सेवामुक्ति पर युवाओं को रुपये 11 लाख एकमुश्त पैकेज देकर सेना से विदा करने का प्रावधान किया गया है। इस पर युवाओं में रोष है । एक सामान्य नौकरीपेशा की तरह काम करना पड़ेगा। यह सेना में जाने वाले उत्सुक युवाओं के मनोबल को तोड़ने जैसा है। क्योंकि केंद्र सरकार अब थलसेना, वायुसेना और नौसेना में युवाओं की भर्ती तो करेगी, लेकिन एक ठेकेदार की तरह महज चार साल के लिए ही। केंद्र सरकार ने नई भर्ती प्रक्रिया को 'अग्निपथ' नाम दिया है। 

जिसको लेकर युवा प्रदर्शन, विरोध और आक्रोश प्रकट कर रहे हैं। हिंसा तोड़फोड़ और आगज़नी की खबरें आ रही हैं।
लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्रों ने यूनिवर्सिटी कैंपस में ही प्रदर्शन किया। ये छात्र राजभवन तक मार्च करने की तैयारी में हैं। उन्नाव के शुक्लागंज में युवाओं ने मरहला चौराहे पर विरोध जताया। इतना ही नहीं युवाओं ने हाथों में तख्ती ओर पोस्टर लेकर रक्षा मंत्री और मोदी, योगी मुर्दाबाद के नारे लगाए।  

उत्तर प्रदेश के  बुलंदशहर में सड़क पर उतरे छात्रों ने कहा कि भारत सरकार के फैसले से हम शर्मिंदा हैं कि वन रैंक वन पेंशन के नाम पर हाथजोड़ कर हमसे वोट लिया और अब नो रैंक नो पेंशन की स्कीम ला रहे हैं। ग़ुस्से से उबल रहे युवक ने कहा कि अर्थी दो या भर्ती दो।हम अपनी जान तक देने को तैयार हैं।

बिहार में कई जगहों पर छात्रों ने सड़कों पर उतर कर तोड़फोड़ की और  ट्रेन में आग लगा दी। हरियाणा के रोहतक में इस योजना के विरोध में एक छात्र ने आत्महत्या कर ली। युवक ने रोहतक के पीजी होस्टल के रूम में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। युवक का नाम सचिन था। वो जींद जिले के लिजवाना गांव का रहने वाला है। इधर, पलवल में हंगामा कर रहे छात्रों ने पुलिस की तीन गाड़ियां जला दीं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला में चुनावी रोड़ शो कर रहे हैं। इस दौरान युवा सड़कों पर उतर आए हैं। हालांकि प्रदर्शनकारियों को धर्मशाला जाने से रोका गया है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया