राँची घोषणा पत्र के साथ सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ तंज़ीम-ए-इंसाफ का राष्ट्रीय सम्मेलन

राँची : तीन दिनों तक चलने वाला  तंज़ीम-ए-इंसाफ का तीसरा राष्ट्रीय सम्मेलन आज राँची में सम्पन्न हुआ। सम्मेलन के आखिरी दिन राँची घोषणापत्र को सर्वसम्मति से स्वीकृत किया गया। इस राँची डिक्लेरेशन को तंज़ीम के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद अज़ीज़ पाशा ने पेश किया। इस ऐलान में कहा गया है कि तंज़ीम सरकारी योजनाओं को अल्पसंख्यकों के हक़ में प्रभावी तरीके से लागू करवाकर उनका विकास करेगी। अल्पसंख्यकों के लिए बनी योजनाओं की तंज़ीम द्वारा निगरानी की जाएगी ताकि हाशिये पर रहने वाले पसमांदा अल्पसंख्यकों तक इनका लाभ पहुँच सके। भारत के संविधान में उल्लेखित धर्मनिरपेक्षता और समानता के हक़ में तंज़ीम-ए-इंसाफ काम करेगी। 

तीन दिनों तक चले सम्मेलन में अलग - अलग राज्यों से 155 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। सम्मेलन की अध्यक्षता पुर्व सांसद एवं तंज़ीम-ए-इंसाफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष अज़ीज़ पाशा ने किया। 

सम्मेलन में तंज़ीम के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. ए. ए. खान, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अतुल अंजान, पूर्व सांसद हन्नान मुल्ला, झारखंड के अब्दुल कलाम रशीदी, पूर्व आईएएस एवं विश्व बैंक के पूर्व कार्यकारी निदेशक गुलजार होदा, पूर्व सांसद अज़ीज़ पाशा, गजनाफ़र नवाब, इरफान अहमद, इफ़्तेख़ार महमूद सहित सैकड़ों प्रतिनिधि शामिल थे।इफ़्तेख़ार महमूद

महासचिव

आयोजन समिति

तीसरा राष्ट्रीय सम्मेलन, राँची

आल इंडिया तंजीम ए इंसाफ का तीसरा राष्ट्र सम्मेलन सोमवार को समाप्त हुआ।सम्मेलन में नए पदाधिकारियों का चयन  राज्यों से आए प्रतिनिधियों ने सर्व सहमति से नए पदाधिकारियों का निर्वाचन हुआ:-

जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष जनाब अजीज पाशा, पूर्व सांसद, 

राष्ट्रीय वरिष्ठ उप अध्यक्ष जनाब इफ्तिखार महमूद (झारखंड आंदोलनकारी)

उपाध्यक्ष (प्रोफेसर) डॉक्टर तरन्नुम मुस्ताक, बंगाल

उपाध्यक्ष सरदार तगूलाम सिंह, पंजाब

उपाध्यक्ष एम. अप्पादुराई, पूर्व सांसद तमिलनाडु

सचिन सलाउद्दीन खुर्रा, मणिपुर

सचिन इरफान अहमद फातमी, बिहार

उप महासचिव मदिउर रहमान खा, यूपी

राष्ट्रीय महासचिव  डॉ० ए.ए. खान, दिल्ली

कोषाध्यक्ष शकीर उर रहमान, दिल्ली

फोटो:- नवनिर्वाचित पदाधिकारी गण।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग