*M.P-M.L.A कि भाँति चुनाव आयोग व सुप्रीम-कोर्ट/हाई-कोर्ट के जजो का चुनाव बैलेट-पेपर से हो*




*सेवा मे*     

*1-आदरणीय महामहिम राष्ट्रपति महोदय साहब जी भारत सरकार, राष्ट्रपति भवन,नई दिल्ली-110004* 


*2-माननीय श्रीमान महोदय केन्द्रीय निर्वाचन आयोग नई दिल्ली-110001*


*3-माननीय प्रधानमंत्री जी प्रधानमंत्री कार्यालय भारत सरकार नई दिल्ली 110011* 


*4-आदरणीय लोकसभा स्पीकर संसद भवन भारत सरकार नई दिल्ली 110001*


*5-माननीय न्याय-विधि मंत्रालय कैबिनेट सेक्रेटरिएट रायसिना हिल नई दिल्ली 110001*


*6-भारतीय विधिज्ञ परिषद/BAR COUNCIL OF INDIA, 21 राउस एवेन्यू इंस्टिट्यूशनल एरिया नई दिल्ली 110002*


*7-सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय भारत सरकार B-2,पंडित दीनदयाल अन्त्योदय भवन ग्राउंड फ्लोर CGO काम्प्लेक्स लोधी रोड नई दिल्ली–110003*


*8-सेक्शन ऑफिसर PMO, साउथ ब्लॉक नई दिल्ली-110011*


*9-सचिव राष्ट्रिय पिछड़ा वर्ग आयोग (NCBC): त्रिकूट-1 भीकाजी कामा पैलेस नई दिल्ली–110066*


*10-सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय भारत सरकार शास्त्री भवन नई दिल्ली-110001* 


*विषय:--M.P/M.L.A/C.M/P.M/विधान परिषद सदस्य/राज्यसभा सदस्य/व/ग्राम पंचायत चुनाव कि भाँति ग्राम-प्रधान/BDC-क्षेत्र पंचायत सदस्य/ग्राम पंचायत सदस्य/जिला पंचायत सदस्य आदि जो सभी चुनाव देशहित-जनहित मे होते है उसी-कि भाँति उसी तरह लोकतंत्र व संविधान कि रक्षा के लिए माननीय सुप्रीम-कोर्ट नई दिल्ली व देश के सभी माननीय हाई-कोर्ट के जज-साहब लोगो का चुनाव व देश के मा०-चुनाव आयोग का भी चुनाव जनता-जनार्दन द्वारा ''बैलेट-पेपर'' के माध्यम से होना उतना ही लोकतंत्र मे जरूरी हो गया है जितना रेगिस्तान मे प्यासों को पानी कि जरुरत पड़ती है तथा और भी तमाम माँगे इसके पहले बहुजन हसरत पार्टी BHP जो 28/5/19 से लेकर 28/8/21 तक करीब 25-महीना से लगातार करती आ रही है फिर उसके बाद भी 18/1/22 व 22/1/22 व 2/3/22 व 5/3/22 व 8/3/22 को आप सभी महानुभावों से समय-समय पर करी है परन्तु 5-राज्यों कि मतगणना=10/3/22 को होनी है इसलिए तमाम अफवाहों से घबराकर फिर आनन-फानन मे लोकतंत्र कि रक्षा के लिए बहुजन हसरत पार्टी BHP 9/3/22 को सभी माँगो का हवाला फिर संक्षेप मे देते हुए समय के माँग के अनुसार नयी माँग-अपील-निवेदन देशहित-जनहित मे फिर इस प्रकार कर रही है कि मा०-चुनाव-आयोग व मा०-सुप्रीम कोर्ट व मा०-हाई-कोर्ट के जज-साहबों का चुनाव भी देशहित-जनहित मे ''जनता-जनार्दन'' द्वारा ''बैलेट-पेपर'' के माध्यम से कराया जाय/होवे क्योंकि चुनाव आयुक्त कि नियुक्ति C.M/P.M द्वारा मनमाफिक तरीके से होती है जैसे सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जजों कि नियुक्ति भी  कॉलेजियम सिस्टम से बने जजों के द्वारा मनमाफिक होती है उसी के सम्बन्ध मे:-----*


*((1))-नोट:--माननीय सभी महानुभाव महोदय जी:--बहुजन हसरत पार्टी BHP देशहित-जनहित मे आप सभी के संज्ञान मे निम्न निवेदन हाँथ जोड़कर एक पैर पर खड़ी होकर लोकतंत्र कि रक्षा के लिए करती है परन्तु बहुत लोग हर समय डराते रहते कि ऐसे ही बार-बार अपील-माँग-निवेदन करते रहोगे तो सब लोग गुस्सा होकर बहुजन हसरत पार्टी BHP कि मान्यता भी रद्द कर देंगे तथा मुसलमान होने के कारण कानूनी परेशानी मे डालकर अदालत के चक्कर काटने पर मजबूर भी कर देंगे परन्तु लोकतंत्र मे सभी को अपनी-अपनी समस्या व अपनी-अपनी बात रखने का अधिकार संविधान ने दिया है इसके बाद भी बहुजन हसरत पार्टी BHP के पदाधिकारी-गण को आप सभी 10-महानुभाव लोगों पर 100% पूरा भरोसा है कि आप लोग देश मे उठ रही उत्पन्न समस्या का हल अवश्य निकालेंगे परन्तु लोकतंत्र व संविधान पर आँच नही आने देंगे तथा इमानदारी से अपने-अपने कर्तव्यों का निर्वाह/पालन करेंगे*

 

*((2))-नोट:--माननीय महोदय जी:--बहुजन हसरत पार्टी BHP का मकसद चुनाव लड़कर सरकार बनाने का नही है बल्कि देश कि आन-बान-शान व गरिमा व लोकतंत्र-संविधान को कोई चोट न पहुँचावे तथा देश का कुछ नुकसान न होने पावे इसीलिये BSP के जन्मदाता मान्यवर काँशीराम साहब के जन्मदिन 15/3/2017 को बहुजन मुस्लिम पार्टी व फिर बहुजन नवाब पार्टी फिर अब जाकर बहुजन हसरत पार्टी BHP के नाम से केन्द्रीय निर्वाचन आयोग नई दिल्ली से रजिस्टर्ड हो पाया है ये बाबा-साहेब द्वारा बनाये गये संविधान/भारत देश के कानून कि जय-जयकार है जो सभी पार्टियों कि भाँति इस बहुजन हसरत पार्टी BHP को भी गैर-मान्यता प्राप्त दल के रूप मे रजिस्टर्ड किया है बहुजन हसरत पार्टी BHP माननीय चुनाव आयोग महोदय का भी आभार प्रकट करती है और उन्हे भी बधाई देती है कि उन्होंने बहुजन हसरत पार्टी BHP को भी काँग्रेस-BJP-सपा-बसपा-शिवसेना-आम आदमी पार्टी-अम्बेडकर समाज पार्टी-विकास पार्टी-फौजी जनता पार्टी-अमन समाज पार्टी-लोक समाज पार्टी-भारत प्रभात पार्टी-आजाद समाज पार्टी-राष्ट्रीय मजदूर पार्टी-अपनी जनता पार्टी आदि जैसे दलों कि तरह अपने GOOD-OFFICE से सर्टिफिकेट देकर बहुजन हसरत पार्टी BHP का मान-सम्मान बढ़ाया है परन्तु EVM के चलते नये-नये छोटे-छोटे दलो से कोई भी चुनाव लड़ने के लिए तथा चंदा वगैरह देने के लिए तैयार व इच्छुक नही है छोटे-छोटे दलो के लिए तथा लोकतंत्र व संविधान के लिए यह EVM मशीन देवता यंत्र एक घोर समस्या खड़ा कर दिया है गोपनीय सर्वे के मुताबिक पता लगाया जाय कि EVM समाज मे एक बदनुमा दाग बन गया है कि नहीं सर्वे मे अपने आप सच बाहर आ जायेगा*


*((3))-नोट:--माननीय महोदय जी:--28/5/19 से 8/3/22 तक करीब 450-के इर्द-गिर्द SPEED POST/रजिस्ट्री बहुजन हसरत पार्टी BHP ने देशहित-जनहित मे आप सभी 10-महानुभावों पर घोर-घमंड करके देती चली आ रही है और आप सभी 10-महानुभावों का पद/नाम ऊपर पते मे शुरू मे अंकित है ऊपर सभी का पहले ही जिक्र किया गया है परन्तु आप सभी के संज्ञान मे लाने के लिए देशहित-जनहित मे फिर संक्षेप मे तमाम माँग नीचे इस प्रकार दि जा रही है*


*((A)):--जिस तरह आप लोगो ने 10% गरीब सवर्ण भाईयो को आरक्षण दिया है*


*((B)):--जिस तरह आप लोगो ने 3-तलाक पर मुस्लिम कौम कि महिलाओ के उद्धार के लिऐ कानून बनाया है*


*((C)):--जिस तरह आप लोगो ने कश्मीर से धारा 370 व 35-A हटाया है*


*मुख्य-नोट:--A और C कि भाँति नीचे कि सभी माँग पर कानून बनाने कि या कानून मे सं-शोधन करने कि महान कृपा करिये*


*बिन्दु-(1)--ठीक उसी तरह ''कला और पेशा'' मे बँटी वंचित हजारो कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर जो सदियो से ((सर्व-समाज)) कि ''सेवा और खिदमत'' करते चले आ रहे है जो "हिन्दू-मुस्लिम" दोनो समुदायो मे पाये जाते है जिनकी जनसँख्या पूरे देश मे करीब 50% के इर्द-गिर्द है जो सब के सब 96% OBC कि श्रेणी मे आते है उन्हे SC ST भाईयो कि तरह ''सेवा और खिदमत'' के नाम पर ''राजनैतिक-आरक्षण'' लोकसभा राज्यसभा विधानसभा व विधान परिषद मे दो या जाति व्यवस्था खत्म करने कि महान कृपा करिये*


*बिन्दु-(2):--सीनियर-जूनियर वकील-गण को अपनी-अपनी समस्या का समाधान करने के लिए तथा जन-भावना का आदर करते हुए देश के लोकतंत्र-संविधान व मानवता व मौलिक-अधिकार का हनन रोकने के लिए तथा कोलजियम-सिस्टम के जरिए सिर्फ चन्द विशेष वंशानुगत समुदाय के परिवार के लोग जो सुप्रीम कोर्ट व हाई-कोर्ट मे ''जज'' बनते चले आ रहे है यहाँ क्रीमीलेयर नही लगता है सिर्फ OBC पर ही क्रीमीलेयर दाग दिया जाता है इसलिए कोलजियम-सिस्टम के तहत बन रहे वंश-परंपरागत वाले ''जजों'' पर विराम लगाने के लिए तथा देशहित-जनहित मे देश कि सभी समस्या का निराकरण व समाधान करने के लिए ''अधिवक्ता-आयोग''  का गठन इस समय अब बहुत ही जरूरी हो गया है लोकतंत्र बचाने के लिऐ यही समय कि माँग भी है*


*बिन्दु-(3):--बैलेट-पेपर/NOTA-नोटा-बटन/EVM मशीन यंत्र का समाधान कैसे किया जाए तथा यदि NOTA-नोटा-बटन दबाकर सभी मतदाता-गण सभी पार्टी के प्रत्याशी से ज्यादा वोट NOTA-नोटा-बटन को देते है तो यह सिद्ध कैसे होगा कि मतदाता-गण प्रत्याशी को ना-पसंद करके NOTA-नोटा-बटन का इस्तेमाल किये है कि EVM देवता मशीन यंत्र के खिलाफ NOTA-नोटा-बटन का प्रयोग किये है तथा मतगणना के पहले सभी EVM से VVPAT पर्चियों का मिलान होना व पोस्टल-बैलेट कि भी गिनती शुरुआत मे होना बहुत ही जरूरी है नंद कुमार बघेल साहब सुमितरत्न भन्ते जी व महाराष्ट्र के तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष श्री नाना पटोले साहब ने भी बहुजन हसरत पार्टी कि बात को देशहित-जनहित मे समर्थन किया है इसके पूर्व के सभी प्रार्थना-पत्रों पर पहले विवरण के तहत अपील-माँग-निवेदन भेजी जा चुकी है*


*बिन्दु-(4):--इसलिए यदि NOTA-नोटा-बटन दबाकर मतदाता-गण उम्मीदवारों से ज्यादा अपना वोट/मत अगर NOTA-नोटा-बटन को देते है तो इसका फैसला कैसे हो पायेगा कि NOTA-नोटा-बटन का प्रयोग मतदाता-गण पार्टियों के प्रत्याशियों के खिलाफ किये है कि इस EVM देवता मशीन यंत्र के खिलाफ किये है इसका फैसला और खुलासा देशहित-जनहित मे देश के Muslim Sc St Obc शूद्र वंचित हजारो कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोगो को तथा भारत के हर नागरिक को एक नई दिशा दिखा सकता है यह बहुजन हसरत पार्टी BHP का देशहित-जनहित मे दावा है जो सत्य से बड़ा सत्य बनकर उभरेगा*


*बिन्दु-(5):--जो शुरुआत के Subject/विषय मे माननीय चुनाव आयोग महोदय व व व माननीय सुप्रीम-कोर्ट व व व माननीय सभी राज्यों के हाई-कोर्ट के जज-साहब लोगो कि नियुक्ति "परीक्षा" द्वारा होवे या या या देश के  सभी जनता-जनार्दन के वोट/मत द्वारा लोकतंत्र-संविधान को बचाने के लिए ''बैलेट-पेपर'' के माध्यम से चुनाव होवे जिससे किसी भी MUSLIM SC ST OBC शूद्र वंचित हजारो कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोगो के दिलो-दिमाँग मे किसी प्रकार का संदेह न होवे कि किसी एक समुदाय द्वारा बने कोलजियम-सिस्टम के जज साहब हमारे अधिकार को खत्म कर रहे है तथा किसी पार्टी-फार्टी के नेतागण को ये न लगे कि माननीय चुनाव आयोग किसी एक पार्टी को बढ़ावा देने के लिए अन्य सभी नये-पुराने दलों को डूबाकर लोकतंत्र कि हत्या कर रहे है*


*बिन्दु-(6):--आज तक देश मे जितने भी 2900-के इर्द-गिर्द नये-पुराने दल/पार्टी हैं उनके पाँच-5/पदाधिकारी-गण {1}-राष्ट्रीय अध्यक्ष {2}--राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष {3}:--राष्ट्रीय सचिव {4}:--राष्ट्रीय महासचिव {5}:--राष्ट्रीय उपाध्यक्ष से लिखित हलफनामा के तहत पूंछा जाय कि ये सभी 2900-के इर्द-गिर्द नये-पुराने दल/पार्टी के पदाधिकारी-गण EVM देवता मशीन यंत्र से चुनाव करवाना चाहते है कि ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव करवाना चाहते है साथ-साथ हर पार्टी को आदेश भी दिया जाए कि 5/5 हजार मतदाता-गण से लिखित जवाब दाखिल करके हलफनामा लिया जाय कि ये जनता-जनार्दन EVM से चुनाव चाहती है कि ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव चाहती है ऐसा न करने वाले पार्टी कि मान्यता तब उस सूरत मे रद्द किया जाय उसके पहले रद्द न किया जाए तभी लोकतंत्र कि जीत होगी तथा लोग चुनाव आयोग महोदय आदि कि ओरिजिनल जय-जयकार सभी पार्टियाँ के साथ मिलकर देशहित-जनहित मे करेंगे*


*बिन्दु-(7):--क्योंकि लगातार 2-चुनाव में 5%-5% उम्मीदवार न उतार पाने वाले छोटे-छोटे दलों/पार्टियाँ कि मान्यता रद्द करने कि शर्त आयोग द्वारा कानूनन प्रतिबंधित है इसलिए लगातार 2-चुनाव न लड़ने कि अनिवार्य-शर्त को ही देशहित-जनहित मे खारिज करते हुए लगभग 10 से 15 चुनाव तक लड़ने का प्रावधान करके सभी नये-नये छोटे-छोटे दलो को देशहित-जनहित मे कानूनन जीवनदान दिया जाए तो बहुत ही अच्छा होगा---क्योंकि EVM मशीन के रहते हुए कोई भी नये-नये दल और नई पार्टियों को चंदा नही देता है और नाहि इन छोटे नये दलों से कोई भी चुनाव लड़ने में दिलचस्पी रखता है तथा चंदा आदि न मिलने के कारण व लोकसभा 2019 मे जिस दिन आचार-संहिता लगा उसी तारीख 9/3/2019 को बहुजन हसरत पार्टी BHP को चुनाव-चिन्ह रेजर/REZER मिला था चुनाव-चिन्ह देर से मिला तथा EVM मशीन यंत्र कि वजह से 2019 के चुनाव मे तथा 2022-U.P का चुनाव बहुजन हसरत पार्टी लड़ने मे असमर्थ हो गई है तथा बहुजन हसरत पार्टी आडिट आदि भी लाँकडाऊन और चन्दा वगैरह न मिलने कि वजह से अभी तक जमा नही कर पायी है इसके लिये हम क्षमा प्रार्थी है परन्तु जल्दी ही आडिट आदि जमा कर दिया जायेगा*


*बिन्दु-(8):--बहुजन हसरत पार्टी BHP जो 28/5/19 से लेकर 28/8/21 तक करीब 25-महीना से लगातार आपील-माँग करती आ रही है फिर उसके बाद भी 18/1/22 व 22/1/22 व 2/3/22 व 7/3/22 व 8/3/22 को करी है परन्तु 9/3/22 को पूर्व कि 12 अपील पुनःह संक्षेप में नीचे निम्न प्रकार से दि जा रही है:-*


*((क))•••"कलाकार जाति पेशेवर जाति'' वाले लोगो को SC ST भाई कि तरह ''सेवा और खिदमत'' के नाम पर राजनैतिक आरक्षण दे दीजिऐ वरना जाति व्यवस्था ही ख़त्म कीजिए इस मुख्य माँग के साथ-साथ*

*((ख))•••EVM बंद कराकर "बैलेट पेपर" से चुनाव कराईये* 

*((ग))•••आधार कार्ड पर जाति का जिक्र हो*

*((घ))••• स्वास्थ्य पहचान पत्र पर जाति का जिक्र हो* *((ङ))•••2021 कि जनगणना आदि पर "कलाकार जाति पेशेवर जाति'' व घुमंतू जाति आदि सभी लोगो के जाति का जिक्र 101% हो*

*((च))•••मुस्लिम महिलाओं को 16% सच्चर समिती-रंगनाथ मिश्रा आयोग के सुविधा के अनुसार राजनैतिक आरक्षण दो*

*((छ))•••गरीब सवर्ण भाईयों को भी 10% राजनैतिक आरक्षण दो*

*((ज))•••सुप्रीम कोर्ट से लेकर तहसील स्तर के सभी न्यायालयों में न्यायाधीश-जज में तथा मंत्रिमंडल में भी सर्व समाज के लोगो को आरक्षण दो*

*((झ))•••CM--PM के अविश्वास प्रस्ताव के तरह ही MP/MLA के खिलाफ भी अविश्वास प्रस्ताव का कानून बने* 

*((ञ))•••संविधान के आर्टिकल 341 के तहत मुस्लिम क्रिश्चन आदि सभी धर्म के दलित भाई को भारत शासन अधिनियम 1935 के कानून कि भाँति आरक्षण दो* 

*((ट))•••6 महीने के अंदर CM--PM जब-तक किसी एक सदन का सदस्य न बन जावे तब-तक उनके द्वारा बनाया गया सभी कानून अवैध हो*

*((ठ))•••NRC CAA NPR जैसे कानून मे मचे कोहराम को खत्म करने कि माँग करी गई है जो पुनःह आज फिर उपरोक्ति सभी माँगो के साथ कि जा रही है आदि उसी बाबत मे---*


*((4))नोट:--"कला और पेशा'' मे बँटी वंचित हजारों जाति को ''कलाकार जाति पेशेवर जाति'' यह नया नाम देकर इन "कलाकार जाति पेशेवर जाति" जिन्हें कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन कहते है जो सदियो से सर्व समाज कि "सेवा और खिदमत" करते चली आ रही है जो "हिन्दू-मुस्लिम" दोनो समुदायो मे पाये जाते है जिनकी जनसँख्या पूरे देश मे करीब 50% के इर्द-गिर्द है जो सब के सब 96% OBC कि श्रेणी मे आते है इन "'कलाकार जाति पेशेवर जाति"' वाले लोगो को भी "सेवा और खिदमत" के नाम पर SC ST भाईयों कि तरह राजनैतिक आरक्षण मिले इसलिए बहुजन हसरत पार्टी ने पार्टी का गठन करने से पहले 3-3 संस्थाओ के जरिए इलाहाबाद हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में 7/7 P.I.Lऔर S.L.P (C) कि थी जो "दिस इस नॉट मैन्टेनबले कहकर खारिज किया था उस P.I.Lऔर S.L.P (C) का डिटेल नीचे दिया है*


*[अ]....5842 कि P.I.L 6.2.17 को दरगाह शरीफ शहीद बाबा इसराईल शाह जन कल्याण सेवा संस्था के नाम से दाखिल करी गयी जो 9.2.17 DROW कर दि गयी थी फिर एक साल बाद P.I.L NO. 2961 को फरवरी माह मे वापस दरगाह के नाम से फाइल दाखिल हुई तथा माननीय जज महोदय ने बहस सुनने के बाद "दिस इज ऐ नाँट मैन्टीनेबुल" करके दिनाँक 26/2/2018 खारिज कर दिया....जिसकी अपील सुप्रीम कोर्ट नई दिल्ली मे दिनाँक 21/5/2018 को करी गयी है जिसका केश नम्बर 30983 है डायरी नम्बर 20166 है वह भी दिनाँक 7/12/2018को माननीय सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी*


*[आ]...10499 को P.I.L 6.3.2017 को संत रविदास एंव अंम्बेडकर जन कल्याण सेवा समीति के नाम से दाखिल करी गयी जो 9.3.2017 को खारिज कर दी गयी ..जिसकी अपील माननीय सुप्रीम कोर्ट मे दिनाँक 7/12/2017 को करी गयी जिसका केश नम्बर 002258/2017 तथा डायरी नम्बर 39989/2017  है वह भी दिनाँक 19/1/2018 को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी गयी*


*[इ]...3562 को P.I.L माह मई 2018 को मुस्लिम जन कल्याण सेवा समीति कि तरफ से दाखिल करी गयी जो दिनाँक 21/5/2018 को खारिज कर दि गयी ..जिसकी अपील माननीय सुप्रीम कोर्ट मे दिनाँक 30/7/2018 को करी गयी जिसका केश नम्बर SLP(C) 20769/2018 तथा डायरी नम्बर 27881/2018/ये है वह भी दिनाँक 13/08/2018 को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी गयी यह सब Date और डायरी नम्बर सहित है...*


*((5))नोट:--मंडल आयोग कि रिपोर्ट मे आर्टिशियन कास्ट शब्द अनेको बार आया हुआ है आर्टिशियन कास्ट का मतलब "कला और पेशा" ही तो होता है इसलिए 124 क्या हजारों वंचित कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले लोगो का नाम संक्षेप मे नीचे दिया जा रहा है सरकार माने या न माने यह सरकार पर निर्भर है*


*1..चुड़ीहार (मनियार) चूड़िया बनाता है 2..मल्लाह निषाद मछलीहार मछली पकड़ता है 3..दर्जी-कपड़ा सिलता है 4..नाऊ-दाढ़ी बनाता है 5..धुनियाँ-रजाई/गद्दा धुनता है 6..डफाली-डफ़ली यानि शादी विवाह में बैंड-बाजा बजाता है 7.. लोनियाँ-ईट बनाता है*


*8..ठठेरा-बर्तन बनाता है 9..धोबी-कपड़ा धोता है 10..मिल्कमैन (यादव)-दूध वाला कहलाता है 11..चौरसिया-पान की पैदावार करता है 12..बढ़ई-कुर्सी मेज बनाता है  13..अंसारी-कपड़ा बुनता हैई 14..कुम्हार (प्रजापति) - मिट्टी का सामान बनाता है*


*15).कहार (गौड़)ईडोली उठता और शादी विवाह में  पानी भरता है..16).लोहार-लोहे का औजार बनाता है..17).सुनार-सोने का आभूषण बनाता है..18).धरिकार-(बंसफोड) बाँस का सारा सामान बनाता है..19).कोईरी-(मौर्य सैनीम कुशवाहा)-सब्जी की पैदावार करता है..20).राईन(कुंजड़ा)-सब्जी बेचता है..21).नोनियाँ-नमक बनाता है*


*22..तांबेर-तांबे का बर्तन बनाता है  23..हवाईदार-पटाखे बनाता है 24... सलमानी(तुर्किया नाऊ) बाल दाढ़ी काटता है  25...रंगरेज-छपाई का काम करता है  26..गुप्ता (भड़भूजा)-चना दाना भूँजते है 27..सिद्दीकी-तेल की पेराई करता है 28..ज्योतिष-भविष्य बताने वाला 29..शेख मेहतर हलालखोर  30..पाल गड़ेरिया धनगर का भेड़-बकरे आदि पालना होता है*


*((6))नोट:--बहुजन हसरत पार्टी को "कलाकार जाति पेशेवर जाति" जैसा महान नया नाम माननीय अदालत मे क्योँ देना पड़ा इसे देशहित-जनहित में आप सभी महानुभवों को समझना होगा क्योंकि पूरे देश मे जिनका "कला और पेशा" एक है इसके बावजूद पूर्व भारत सरकार ने न जाने ऐसे कितने जातियों को किस षड्यंत्र के तहत अलग-अलग राज्य-शहर-जिले में अलग-अलग श्रेणियों में रखकर गुमराह किया है जो समझ के बाहर है देशहित-जनहित मे इसका अंदाजा आप सभी को भीमवादी-हसरत मोहानीवादी बनकर लगाना/समझना होगा* 


*(i)...रजक-निर्मल-बरेठा-दिवाकर कन्नौजिया (धोबी भाई) यह UP में SC के श्रेणी में आते है तथा मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में OBC के श्रेणी में आते हैं जो समझ के बाहर है इसी षड्यंत्र के तहत वर्षो से ये मनुवादी सत्ता का सुख भोग रहे है इसलिए इन सबका एक उपाय ''कलाकार जाति-पेशेवर जाति'' तथा घुमंतू/आदिवासी जाति-जनजाति का कॉलम "स्वास्थ्य पहचान पत्र" पर जाति का कालम /2021 कि जनगणना फ़ॉर्म में निर्धारित किया जाय*


*(ii)...विश्वकर्मा (लोहार भाई) यह UP में OBC के श्रेणी में आते है तथा बिहार हिमांचल प्रदेश और दिल्ली में शायद SC के श्रेणी में आते हैं जो सम के बाहर है इसी षड्यंत्र के तहत वर्षो से ये मनुवादी सत्ता का सुख भोग रहे है इसलिए इन सबका एक उपाय ''कलाकार जाति-पेशेवर जाति'' तथा घुमंतू/आदिवासी जाति-जनजाति का कॉलम "स्वास्थ्य पहचान पत्र" पर जाति का कालम /2021 कि जनगणना फ़ॉर्म में निर्धारित किया जाय*


*(iii)...प्रजापति (कुम्हार भाई) यह UP में OBC के श्रेणी में आते है तथा मध्य प्रदेश में और बुंदेलखंड के कुछ 10 जिलों में SC के श्रेणी में आते हैं जो समझ के बाहर है इसी षड्यंत्र के तहत वर्षो से ये मनुवादी सत्ता का सुख भोग रहे है इसलिए इन सबका एक उपाय ''कलाकार जाति-पेशेवर जाति'' तथा घुमंतू/आदिवासी जाति-जनजाति का कॉलम "स्वास्थ्य पहचान पत्र" पर जाति का कॉलम तथा 2021 कि जनगणना फ़ॉर्म में निर्धारित किया जाय*


          *अत: आप सभी से विनम् निवेदन है कि विषय मे कि गई माँग के साथ-साथ मुख्य/नोट A से C कि भाँति जो हर अपील-माँग-निवेदन जैसे (क--से--ठ) तक तथा नोट-1 से नोट-6 तक तथा बिन्दु-1 से बिन्दु-8 तक देशहित-जनहित मे जो कि गई है उसे पूरा करने कि महान कृपा करिये जिससे सभी माँग-अपील-निवेदन आप जैसे लोगो द्वारा पूरी हो जावे और लोकतंत्र और संविधान के साथ-साथ आप सभी महानुभावों कि जय-जयकार बहुजन हसरत पार्टी के साथ-साथ देश कि 140-करोड़ जनता-जनार्दन भी झूम-झूमकर करने लगे तथा निवेदन करने मे कोई अपराध व गलती हो गयी हो तो देशहित-जनहित मे माफ कीजिए आप सभी का उपकार इस बहुजन हसरत पार्टी पर होगा*


*09/03/2022 ----- 9819316944*



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग