मुस्तफाबाद में मजलिस के रोड शो से घबराकर कांग्रेस ने झूठ का दामन थामा: कलीमुल हफ़ीज़

उत्तर पूर्वी दिल्ली में अब्दुल हक़ नाम का कोई आदमी मजलिस का लोक सभा अध्यक्ष कभी नहीं रहा।

प्रेस विज्ञप्ति, 

दिसंबर21, 2021 नई दिल्ली मजलिस की बढ़ती हुई ताक़त से कांग्रेस समेत नामनिहाद सेकुलर पार्टियां परेशान और घबरा गई हैं। वो ख़ौफ़ के आलम में गुमराह करने वाले प्रोपेगंडा पर उतर आयी हैं। ये विचार ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन दिल्ली के अध्यक्ष कलीमुल हफ़ीज़ ने प्रेस को जारी बयान में व्यक्त किए।

वह दिल्ली कांग्रेस के उपाध्यक्ष अली मेहदी के उस ट्यूट पर तबसरा कर रहे थे जिसमें अली मेहदी ने कहा कि मजलिस से टूटकर लोग कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं। ज्ञात रहे कि अली महदी मुस्तफाबाद से पूर्व MLA हसन अहमद के बेटे हैं। अली मेहदी ने उत्तर पूर्वी दिल्ली के रहने वाले अब्दुल हक़ को मजलिस का उत्तर पूर्वी लोक सभा का अध्यक्ष बताया है। मजलिस अध्यक्ष ने कहा कि इस नाम का कोई आदमी कभी मजलिस का लोकसभा अध्यक्ष नहीं रहा और ना इस वक़्त है और जब से मैं अध्यक्ष बना हूँ, मैं इस नाम के किसी आदमी से परिचित भी नहीं हूँ।

कलीमुल हफ़ीज़ ने कहा कि लोकतंत्र में लोगों को अपनी पसंद के हिसाब से सियासी पार्टी में शामिल होने का अधिकार है, हमेशा ही लोग अपनी सियासी वफ़ादारी बदलते रहते हैं। मेरा ये दावा नहीं कि मजलिस का कोई मेंबर किसी दूसरी पार्टी में नहीं जा सकता, लेकिन ग़लत ब्यानी और झूठ बोलकर लोगों को गुमराह करने का अधिकार किसी को नहीं है। दरअसल 15 दिसंबर 21 को चाँदबाग़ से लेकर मुस्तफाबाद तक मजलिस के रोड शो और मुस्तफाबाद में मजलिस के कार्यकर्ता सम्मेलन में हज़ारों की भीड़ देखकर कांग्रेसियों की नींद हराम हो गई है। 

मेरा मशवरा है कि अली मेहदी भी कांग्रेस की ताबेदारी छोड़कर मजलिस की हिस्सेदारी में शामिल हो जायें। अब मजलिस ही दिल्ली के मुसलमानों की पहली पसंद है। कांग्रेस या आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के मुसलमानों को पसमांदगी के सिवा क्या दिया है।


अब्दुल ग़फ़्फ़ार सिद्दिकी 


मीडिया इंचार्ज, मजलिस दिल्ली

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत