दिल्ली सरकार के पास आयोध्या तीर्थ यात्रा और दिवाली महोत्सव के लिए बजट है, वक़्फ़ मसजिदों की मरम्मत के लिए फूटी कौड़ी भी नहीं : कलीमुल हफ़ीज़

 रफ़ी हाल, सुईवालान, पुरानी दिल्ली में मजलिस की NDMC ज़ोन 1 का कार्यकर्ता सम्मेलन 

21 दिसंबर 2021 , नई दिल्ली मुसलमानों ने जिस पर भरोसा किया उसी ने उनको धोखा दिया। कांग्रेस ने 60 साल में हमें ठिकाने लगाया था, आम आदमी पार्टी ने आठ साल ही में गड्ढे में डाल दिया। दोनों पार्टियों ने हमें पिछड़ापन ही दिया है। दिल्ली सरकार के पास अयोध्या तीर्थयात्रा और दिवाली महोत्सव के लिए बजट है, वक़्फ़ मस्जिदों की मरम्मत के लिए फूटी कौड़ी भी नहीं है।


ये विचार ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष कलीमुल हफ़ीज़ ने प्रेस को जारी बयान में व्यक्त किये। वो रफ़ी हाल, सुईवालान, पुरानी दिल्ली में मजलिस की NDMC ज़ोन 1 के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। कलीमुल हफ़ीज़ ने कहा कि दिल्ली की जामा मस्जिद, शाही मस्जिद फतेहपुरी और मुबारक बेगम मस्जिद, बल्लीमारान बहुत जर्जर हालत का शिकार है, पत्थर गिर रहे हैं, गुंबद में दरारें आ रही हैं लेकिन सरकार को कोई फ़िक्र नहीं है। इन इलाकों में काउंसलर मुसलमान हैं, एम एल ए भी मुस्लिम हैं बल्कि दिल्ली सरकार में मंत्री भी है। इसके बावजूद वो सरकार से कोई काम नहीं करा पा रहे हैं। वो मुसलमान होने के बावजूद हमारे क़ायद नहीं हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार का मुखिया RSS से भी बड़ा सांप्रदायिक है, उसने अयोध्या के लिए पूरी ट्रेन रवाना की, करोड़ों रुपये लगाकर दिवाली महोत्सव मनाया और सरकारी ख़र्च पर टेलीकास्ट किया, अपने चेहरे के विज्ञापन पर 12 सौ करोड़ सालाना ख़र्च कर रहा है, लेकिन उसके पास मस्जिदों की मरम्मत के लिए फूटी कौड़ी भी नहीं है। जबकि ख़ुद वक़्फ़ से सालाना करोड़ों की आमदनी होती है। कलीमुल हफ़ीज़ ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने मुसलमानों से ताल्लुक़ रखने वाली सरकारी संस्थाओं को अक्षम लोगों के हवाले करके उनको बर्बाद कर दिया है। अब मजलिस पूरे दम ख़म से दिल्ली के हर चुनाव में हिस्सा लेगी। हम अपने हिस्से का हक़ लेकर रहेंगे। दिल्ली के मुसलमान और दलित मजलिस से जुड़ रहे हैं। दिल्ली के हर इलाक़े में बड़े बड़े प्रोग्राम हो रहे हैं, जिससे तथाकथित सेकुलर पार्टियाँ परेशान हैं इसलिए के उन का बंधुआ वोट उनके हाथ से निकल रहा है। मजलिस अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं से हौसले और हिम्मत के साथ काम करने की अपील की और कहा कि आपकी मेहनत रंग ला रही है बस अब थोड़ी मेहनत की और ज़रूरत है फिर नतीजे अच्छे आएंगे। सम्मेलन को स्थानीय पदाधिकारियों के अलावा मजलिस के प्रदेश सेक्रेटरी राजकुमार ढिल्लोर और इंचार्ज रेहान सिद्दीक़ी, DS बिंद्रा, क़ासिम उस्मानी,शाह आलम सिद्धिकी और और संगठन सचिव अब्दुल ग़फ़्फ़ार सिद्दिकी ने भी संबोधित किया।


अब्दुल ग़फ़्फ़ार सिद्दिकी


मीडिया इंचार्ज

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत