देश, समाज तथा मानवता के लिए कार्य करना ही हमारा परम कर्तव्य है :लोक सेवा समिति

 वाईएमसीए सभागार (नई दिल्ली) में समिति की तीसवीं वर्षगांठ पर विशिष्ट कार्य करने वालों को किया गया सम्मानित 

"*समिति धर्म, जाति, इलाक़ों से उपर उठ कर सेवा कार्य कर रही है लोक सेवा समिति। हमारी पहचान और सम्मान, काम से होती है : मोहम्मद नौशाद (राष्ट्रीय अध्यक्ष) 

नई दिल्ली :(अनवार अहमद नूर) 
लोक सेवा समिति ने अपनी तीसवी वर्षगांठ नई दिल्ली में वाईएमसीए के सभागार में शानदार ढंग से मनाई। यहां आयोजित कार्यक्रम का सफल संचालन दिल्ली उर्दू अकादमी के सदस्य तथा प्रसिद्ध पत्रकार एवं संपादक जावेद रहमानी ने किया। जबकि दिल्ली चैप्टर के पदाधिकारियों सहित अध्यक्ष मोहम्मद नौशाद खान ने समस्त अतिथियों का स्वागत एवं सम्मान किया।



स्वागत संबोधन चित्रा दलाल ने किया। यहां इसी अवसर पर समाज के विभिन्न क्षेत्रों की महत्वपूर्ण विभूतियों, डॉक्टर, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार एवं साहित्यकार, संपादक, वकील, सेना और वायु सेना के पूर्व पदाधिकारी सहित अनेक गणमान्य महिलाओं और पुरुषों ने भाग लिया। जिनमें अनेक को अपने अपने क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य के लिए "झारखंड रत्न" अथवा "विशेष सम्मान रत्न" देकर लोक सेवा समिति की ओर से सम्मानित किया गया। डॉक्टर फ़ख़रुद्दीन मोहम्मद (Mesco) को सर्वोच्च सम्मान झारखण्ड रत्न (मरणोप्रांत) दिया गया। उनका अवॉर्ड AIMIM दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष कलीम उल हफीज़ ने प्राप्त किया। झारखंड रत्न से सम्मानित होने वाली प्रमुख विभूतियों में स्वतंत्रता सेनानी मुजफ्फ़र खान, जय हिन्द सेना के सिपाही नेताजी सुभाष चंद्र बोस के साथी (मरणोपरांत) शामिल रहे। डॉ. आर. पी. साहू (समाजिक आन्दोलन एवम् जागरुकता अभियान), प्रो. सुरेश प्रसाद सिंह (एजूकेशन एडमिनस्ट्रेशन), डॉ. कर्मा उरांव (शिक्षा), डॉ. दीपक कुमार गुप्ता को कार्डियोलॉजिस्ट (चिकित्सा), 
कैप्टन प्राण रंजन प्रसाद (पुरातत्व हैरिटेज),
सूर्य सिंह बेसरा (झारखंडी साहित्य वा झारखण्ड अलग राज्य निर्माण) को भी सम्मानित किया गया। विशिष्ट सेवा सम्मान 2021 से सम्मानित होने वालों में  मोहम्मद मोबीन (शिक्षा),राइनो सेनापति (महिला सशक्तिकरण) डॉ. कृष्णा कुमार( स्वास्थ्य), नीलम महाजन सिंह (कोरोना वॉरियर्स), जावेद रहमानी (पत्रकारिता ), सविता शर्मा और चित्रा दलाल को कोविड में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए  अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। 
ज्ञात रहे कि लोक सेवा समिति पिछले 30 वर्षों से समाज में अलग-अलग स्तर पर उत्थान के लिए, महिलाओं की शिक्षा एवं झारखंड के उन रिमोट गांव में जो महिलाएं समाज के मुख्यधारा में अब तक शामिल नहीं हैं उनको मुख्यधारा में लाने के कार्य कर रही है। समिति हर वर्ष भारत के अलग-अलग राज्यों तथा उन राज्यों में ज़िला स्तर पर वहां के लोगों को तलाश करके जागरूकता करने वालों को निरंतर प्रोत्साहित और सम्मानित कर रही है। 
लोक सेवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद नौशाद खान ने समिति के कार्यों पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए कहा कि समिति धर्म, जाति, इलाक़ों से उपर उठ कर सेवा कार्य कर रही है, हमारी पहचान और सम्मान, काम करने पर होती है। देश, समाज और मानवता के लिए कार्य करने, और असहाय के आंसू पोंछना ही हमारा परम कर्तव्य है।
सुरेश शर्मा राष्ट्रीय अध्यक्ष जय हिन्द मंच ने कहा कि यह समारोह महत्वपूर्ण  है कि इसमें सभी सम्मानित होने वाले सदस्यों ने राष्ट्र का नाम रौशन किया है। आज देश में हमारे लिए धर्म से ऊपर राष्ट्र हित में किए गए कार्यों की वजह से हमारी विश्व में एक पहचान है न की धर्मों के आधार पर। उन्होंने कहा की आज के राजनीतिक नेता देश को बांटने का कार्य कर रहे हैं। देश में तब ही खुशहाली और सबको बराबर का आदर मिलेगा जब राष्ट्र हम सब के लिए सर्वोपरि होगा। आज नेता धर्मो के आधार पर राजनीति करना चाहते हैं। यहीं पर कई लोगो ने समिति की सदस्यता भी ग्रहण की।
प्रो सुरेश प्रसाद सिंह ने कोविड विषय पर संबोधित किया।
समारोह में कैप्टन कंवर लाल डागर, नव रत्न अग्रवाल, बीकानेर के निदेशक, चौधरी सुबोध दलाल, नीलम महाजन सिंह, कलीम उल हाफ़िज (अध्यक्ष दिल्ली AIMIM),आलोक मचेरी, डॉ एस एच सिद्दीक़ी, अब्दुर रशीद, विजय वर्मा, नातिक खान, डॉ. नदीम खान, नंदनी शर्मा, सलमा हसदा, चित्रा दलाल, सविता शर्मा, अनस बीन नौशाद, अनवार अहमद नूर, सईद अहमद, अतहर आलम, हाफ़िज अब्दुस समद, आदि ने भी भाग लिया।
धन्यवाद ज्ञापन डॉ. टी. ए. सिद्दीकी दिल्ली चैप्टर ने दिया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया