किसान आंदोलन को इतना लंबा समय बीत जाने के बाद भी काले कानून वापस नहीं लिए जा रहे है- जयंत चौधरी

 मथुरा। आरएलड़ी के अध्यक्ष जयंत चौधरी एक दिवसीय दौरे पर आज मथुरा पहुँचे। रालोद के कार्यकर्ताओं ने जयंत का स्वागत किया। जयंत चौधरी ने किसानों की समस्याओं को भी सुना। जयंत चौधरी ने केंद्र और प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा।उन्होंने कहा कि केंद्र में सरकार बैठी है लेकिन किसान की समस्या का निदान किसी के पास नहीं है। किसान आंदोलन को इतना लंबा समय बीत जाने के बाद भी काले कानून वापस नहीं लिए जा रहे है।


मंगलवार को मथुरा आये रालोद नेता जयंत चौधरी ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि केंद्र सरकार किसानों के आंदोलन को लेकर हठधर्मिता अपनाए हुए है।किसान 8 महीने से आंदोलन कर रहे हैं। 600 से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी हैं, लेकिन सरकार कहती है कि आंदोलन में किसी किसान की मौत नहीं हुई। सरकार हर मुद्दे पर अपना पक्ष रखती है। क्योंकि सरकार उनकी है, लेकिन उन तथ्यों में कोई सच्चाई नहीं होती है। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था के मुद्दे को लेकर जयंत ने कहा कि प्रदेश में कानून हैं व्यवस्था नहीं। उन्होंने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधाऔर कहा कि मोदी संवेदनशील होते तो किसानों आंदोलन का सफल परिणाम आ गया होता। उन्होंने प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि मोदी जी कभी गलत कर नहीं सकते। अपनी गलती मान नहीं सकते, पीछे हट नहीं सकते ,जनता के आगे झुक नहीं सकते। जयंत ने भाजपा की होने वाली किसान पंचायत पर तंज कसते हुए कहा कि पंचायत तब होती है जब बात खुले में सामने हो। उस पंचायत में न जनता का योगदान होता है और कोई ना कोई निष्कर्ष व निर्णय जनता के लिए होते है। भाजपा की पंचायत सरकारी है जिसमें अपने अपने ही लोग होते हैं। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग