भाजपा की नार्थ एमसीडी में करोड़ो रुपयों का मिड-डे मील घोटाला, गरीब बच्चों के पेट पर लात*

नई दिल्ली: 19 अगस्त 2021 उत्तरी दिल्ली नगर निगम के 'आप' नेता प्रतिपक्ष विकास गोयल ने गुरुवार को अपने बयान में भाजपा की नार्थ एमसीडी के करोड़ों के मिड-डे मील घोटाला का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि नार्थ एमसीडी ने दाल के स्थान पर काला चना और वनस्पति घी के स्थान पर पामोलीन बांट दिया। यहां तक कि बच्चों को दी जाने वाली सूखे राशन की किट के वजन में भी घोटाला किया गया है। विकास गोयल ने कहा नार्थ एमसीडी के कमिशनर संजय गोयल और भाजपा नेताओं को मामले की पूरी जानकारी है। लेकिन अभी तक कोई बड़ी कार्रवाई नहीं की गई है। मैं एमसीडी में बैठी भाजपा से कहना चाहता हूँ कि इस तरह जानता को परेशान करना आप पर भारी पड़ने वाला है। लोग आपको एमसीडी की कुर्सी से उखाड़ फेंकने का मन बना चुके हैं।

नार्थ एमसीडी में आम आदमी पार्टी से नेता प्रतिपक्ष विकास गोयल ने कहा कि, एक बार फिर दिल्ली भाजपा का लालची अमानवीय चेहरा सामने आया है। भाजपा की नार्थ एमसीडी ने गरीब बच्चों के सूखे राशन में करोड़ो का घोटाला करके उनके पेट पर लात मारने का काम किया है। नार्थ एमसीडी ने दाल के स्थान पर काला चना और वनस्पति घी के स्थान पर पामोलीन बांट दिया। यहां तक कि बच्चों को दी जाने वाली सूखे राशन की किट के वजन में भी घोटाला किया गया है। शर्म की बात यह है कि मामले की खबर उत्तरी निगम कमिशनर संजय गोयल और भाजपा नेताओं को मिल चुकी है लेकिन अभी तक कोई बड़ी कार्रवाई नहीं की गई है।

उन्होंने कहा कि निगम समय रहते एफसीआई के गोदामों से गेहूं और चावल नहीं उठा सकी। जिसकी वजह से केवल दालें और वनस्पति घी ही बांटा जा रहा है। लेकिन इसमें भी एमसीडी के अधिकारी घोटाला करने से नहीं चूके। इस किट में 2 लीटर वनस्पति घी और 7 किलो 225 ग्राम दालें बच्चों में बांटी जानी थीं। लेकिन तैयार कराई गई किट में दालों के बजाय काला चना और वनस्पति घी के बजाय पामोलीन पैक करा दिया गया। राशन के वजन में भी फर्क था। किट में दाल का वजन 7 किलो 223 ग्राम होना चाहिए था, लेकिन इस किट का वजन 6 किलो 974 ग्राम निकला। यानी कि असली सामान में तो हेरा-फेरी की ही गई, सामान के वजन में भी हेरा-फेरी कर दी गई।

विकास गोयल ने बताया कि, खुले बाजार में काला चना और चने की दाल में करीब 15 रूपये प्रति किलो ग्राम का अंतर है। इसी तरह वनस्पति घी और पामोलीन के भाव में भी करीब 30 रूपये प्रति लीटर का अंतर है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम के विद्यालयों में करीब 3 लाख बच्चे पढ़ते हैं। इस लिहाज से दाल में करीब 3 करोड़ 25 लाख 3 हजार 500 रुपए घोटाला किया गया है। और वनस्पति घी यानी कि पामोलीन में करीब 1 करोड़ 80 लाख रुपए का घोटाला किया गया है। घटाए गए वजन को जोड़ कर करीब 5.5 करोड़ का घोटाला किया गया है।

आप पार्षद ने कहा कि, एमसीडी में शासित भाजपा हमेशा जनता से धोखाधड़ी करके अपनी जेब गरम करने में व्यस्त रहती है। भाजपा नेताओं को पता है कि अब एमसीडी में उनके कुछ ही महीने बचे हैं। आगामी चुनाव में जनता उन्हें बाहर कर देगी इसलिए जितना लूट सकते हैं लूट लें। लेकिन गरीब बच्चों के पेट पर लात मारना भाजपा की क्रूरता को दर्शाता है। भाजपा का यह रवैया ज़्यादा वक्त तक चलने वाला नही है। मैं एमसीडी में बैठी भाजपा से कहना चाहता हूँ कि इस तरह जानता को परेशान करना आप पर भारी पड़ने वाला है। लोग आपको एमसीडी की कुर्सी से उखाड़ फेंकने का मन बना चुके हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग