सेक्युलर पार्टियां आर्टिकल 341 पर अपना स्टैंड बताए- पीपुल्स एलाइंस

 पीपुल्स एलाइंस ने आर्टिकल 341 को हटाए जाने को लेकर राष्ट्रपति के नाम उपजिलाधिकारी के पेशकार को ज्ञापन सौंपा।

आर्टिकल 341 असंवैधानिक व धार्मिक भेदभावपूर्ण - इं शाहरुख अहमद

सेक्युलर पार्टियां आर्टिकल 341 पर अपना स्टैंड बताए- पीपुल्स एलाइंस




सिद्धार्थनगर, 10 अगस्त 2021 : पीपुल्स एलाइंस ने आर्टिकल 341 से धार्मिक प्रतिबन्ध हटा कर मुसलमानों एवं ईसाइयों के अनुसूचित जाति के आरक्षण का अधिकार बहाल किये जाने के संबंध में महामहिम राष्ट्रपति के नाम डुमरियागंज उपजिलाधिकारी के पेशकार को ज्ञापन सौंपा। 

संविधान लागू होने के बाद देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू सरकार ने संविधान के अनुछेद 341 का सहारा लेकर 10 अगस्त 1950 को एक अध्यादेश पारित करते हुए देश के धार्मिक अल्पसंख्यकों   (मुस्लिम,सिख,ईसाई,बौद्ध एंव अन्य) को इससे बाहर कर दिया जिससे जातिगत रूप से अत्याधिक भेदभाव के शिकार धार्मिक अल्पसंख्यक समूह की अनुसूचित जातियों पर इसका सीधा असर पड़ा और आज़ादी के 70 वर्षों में ये जातियां आज संकटग्रस्त हो कर अपने अधिकारों के लिए संघर्ष कर रही हैं।

इस अन्याय के खिलाफ सिख समुदाय के दलितों ने इसे असंवैधानिक अन्याय पूर्ण बताकर इसके खिलाफ अपने अधिकार की लड़ाई लड़ी तब 1956 में इस अध्यादेश में संशोधन करके सिख को भी इसमें शामिल कर लिया गया।

1990 में इस अध्यादेश में एक संशोधन करके इसमें बौद्ध दलितों को भी शामिल कर लिया गया। लेकिन मुस्लिम जातियों में धोबी, मोची, नट, लाल, बेगी, मेहतर आदि को एक अध्यादेश के ज़रिए अनुसूचित जाति आरक्षण से बाहर कर दिया एवं ईसाई दलित आज भी अपने आरक्षण के संवैधानिक अधिकार से वंचित हैं। 

पीपुल्स एलाइंस के फाउंडर मेंबर इं शाहरुख अहमद ने कहा कि आर्टिकल 341 असंवैधानिक व धार्मिक भेदभावपूर्ण है।  जिससे जातिगत रूप से अत्याधिक भेदभाव के शिकार धार्मिक अल्पसंख्यक समूह की अनुसूचित जातियों पर इसका सीधा असर पड़ा और आज़ादी के 70 वर्षों में ये जातियां आज संकटग्रस्त हो कर अपने अधिकारों के लिए संघर्ष कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश में 2022 में विधानसभा का चुनाव होना है। धारा 341 से धार्मिक प्रतिबन्ध हटाये जाने को लेकर सपा, बसपा, आरएलडी, आप आदि सहित किसी भी राजनैतिक पार्टियो का आचरण कभी गम्भीर नहीं रहा। पीपुल्स एलाइंस प्रदेश की सभी छोटी बड़ी राजनैतिक पार्टियो को पत्र लिख कर उनसे इस संबंध में अपना दृष्टिकोण स्पष्ट करने की बात करेगी।

वंही पीपुल्स एलाइंस जिला संयोजक अज़ीमुश्शान ने कहा कि धार्मिक भेदभाव से आर्टिकिल 341 में शामिल न करके मुस्लिम दलितों, एंव ईसाईयों से आरक्षण का अधिकार असंवैधानिक तरीके से छीना गया है जो कि संविधान की धारा 14 ,15 ,16 और 25 का खुला उल्लघन है।


पीपुल्स एलाइंस की मांग है कि तत्काल आर्टिकल 341 से धार्मिक प्रतिबन्ध हटा कर मुसलमानों के अनुसूचित जाति के धोबी, मोची, नट, लाल, बेग, मेहतर आदि और ईसाइयों के अनुसूचित जाति को आरक्षण का अधिकार  बहाल किया जाए।


ज्ञापन देने में पीपुल्स एलाइंस नेता इं शाहरुख अहमद, जिला संयोजक अज़ीमुश्शान, राशिद खान, राजू गौतम, अरशद, मो. वकार, अबरार, अहमद चौधरी, अहमद खान, 

आदि लोग मौजूद रहे।


द्वारा जारी- 

इं शाहरुख अहमद

पीपुल्स एलाइंस

प्रदेश कार्यकरणी

9455944411

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग