Meerut में दो जुड़वा भाई एक साथ इंजीनियर बने एक साथ नौकरी पाए और एक साथ कोरोना पॉजिटिव हुए और एक साथ इस दुनिया से विदा हुए


 मेरठ में एक शिक्षक को सोमवार को दोहरा आघात लगा है। इनके जुड़वां बेटों का कोरोना संक्रमण के कारण सोमवार को निधन हो गया, दोनों ही इंजीनियर थे।मेरठ में सेंट थॉमस स्कूल में शिक्षक दंपती को सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दोहरा आघात लगा। इनके जुड़वां पुत्रों को कोरोना ने अपनी लपेट में लिया। इंजीनियर भाइयों ने संक्रमण के बाद भी करीब 22 घंटा तक संघर्ष किया, लेकिन इनका संघर्ष अधिक नहीं चल सका। दोनों भाई साथ ही जन्मे, पले और बढ़े। एक साथ ही इंजीनियर बने और एक साथ अंतिम सांस ली।मेरठ में 23 अप्रैल 1997 को एक साथ जन्म लेने वाले जोफ्रेड वर्गीस ग्रेगरी और राल्फ्रेर्ड जॉर्ज ग्रेगरी के जन्म पर उनके शिक्षक पिता ग्रेगरी रेमंड राफेल तथा माता सोफिया बेहद प्रसन्न थे। ग्रेगरी रेमंड ने बताया कि वो और उनकी पत्नी सेंट थॉमस स्कूल में पढ़ाते हैं। उनके दोनों बेटों ने कम्प्यूटर से बी-टेक की पढ़ाई की, जिसके बाद हैदराबाद में अच्छी कंपनियों में दोनों  की नौकरी लग गई। दोनों बेटों के जन्म में सिर्फ तीन मिनट का अंतर था, जिनमें राल्फ्रेड छोटा भाई था।मेधावी छात्रों ने कम्प्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री ली और दोनों हैदराबाद में नौकरी कर रहे थे। दोनों एक साथ 24 अप्रैल को कोरोना संक्रमित हो गए और इसके बाद इनका संक्रमण से संघर्ष करीब एक हफ्ता चला। सोमवार को इनका निधन हो गया। साथ जन्म लेने वालों के निधन के समय में एक घंटा का अंतराल रहा। 

इसी 23 अप्रैल को दोनों ने अपना जन्मदिन मनाया था, लेकिन किसे मालूम था ये आखिरी जश्न होगा। जन्मदिन के अगले दिन ही वो कोरोना का शिकार हो गए और अब 13-14 मई को दोनों भाइयों ने दम तोड़ दिया। ग्रेगरी ने बताया कि दोनों बेटे दस मई को कोरोना नेगेटिव हो गए थे। दस मई के बाद ही दोनों की तबीयत फिर से बिगड़ी और 13-14 मई की रात में दोनों का निधन हो गया। साथ जन्म लेने वालों के निधन के समय में एक घंटा का अंतराल रहा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया