साध्वी प्रज्ञा,बाबा रामदेव और पतंजलि वाले बालकृष्ण की सलाह से सावधान रहने की जरूरत- मुस्तकीम मंसूरी

 ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव मुस्तकीम मंसूरी ने आज जारी एक बयान में कहा कि आज मैं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और बाबा रामदेव के साथ-साथ अंध भक्तों को भी आइना दिखाना चाहता हूं। जो प्रज्ञा ठाकुर और रामदेव जैसे लोगों की बातों पर आंख बंद करके भरोसा करते रहे हैं।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा आज देश के सामने दो महानुभावों की तस्वीरें है। एक तस्वीर में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर कोरोना पॉजिटिव होने पर अपना वीआईपी इलाज करवाते हुए दिख रही हैं। और देश की सीधी-सादी जनता को बेवकूफ बनाते हुए कोरोना का इलाज गोमूत्र से करने की सलाह अक्सर देती रहती थी। आज जब खुद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर कोरोना पॉजिटिव हुई तो उन्होंने स्वमं गोमूत्र का इस्तेमाल ना करके अच्छे इलाज के लिए वीआईपी अस्पताल को चुनना इस बात का संकेत है। कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर दूसरों के इलाज के लिए तो गोमूत्र पीने का प्रवचन देती है। और जब अपनी बारी आती है। तो वीआईपी ट्रीटमेंट लेती है। मुस्तकीम मंसूरी ने कहा दूसरे महानुभाव बाबा रामदेव जिन्होंने कुछ दिन पहले एलोपैथी को चैलेंज करते हुए पतंजलि द्वारा निर्मित प्रोडक्टों को कोरोना के लिए रामबाण बताया था। और दिल का दौरा पड़ने पर पतंजलि के प्रोडक्टों को एलोपैथ से बेहतर बताया था। आज जब पतंजलि वाले बालकृष्ण को दिल का दौरा पड़ा तो ना तो उन्हें दिव्या अर्जुन क्वाथ दिया गया और ना ही अनुलोम विलोम करवाया बल्कि सीधे बालकिशन को लेकर एम्स पहुंचे। उन्होंने कहा बाबा रामदेव जो अपने पतंजलि के प्रोडक्टों के आगे एलोपैथ को फेल बता रहे थे। आज बालकिशन को जब दिल का दौरा पड़ा तो बाबा रामदेव का विश्वास पतंजलि के प्रोडक्टों में ना होकर एम्स में इस्तेमाल किए जाने वाली एलोपैथ की दवाइयों पर ज्यादा भरोसा किया गया।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा यह वही बाबा रामदेव है। जो एमबीबीएस डॉक्टरों और एलोपैथ को गाली दे रहे थे। मजाक बना रहे थे। इससे ज्यादा शर्मनाक और क्या होगा जो बाबा रामदेव को एमबीबीएस डॉक्टरों और एलोपैथ की दवाइयों से बालकिशन का इलाज करवाने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने कहा अगर पतंजलि के प्रोडक्ट ही कितने कारगर हैं। तो बाबा रामदेव को बाल किशन के इलाज के लिए ऐम्स क्यों जाना पड़ा और एलोपैथ पर फिर बाबा रामदेव क्यों विश्वास कर रहे हैं। यह कुछ ऐसे सवाल हैं। जो सीधा इस बात का इशारा करते हैं। कि बाबा रामदेव पंतजलि की आड़ में देश की जनता को तो बेवकूफ बना रहे हैं। और सरकार को भी चूना लगा रहे हैं। इस तरह साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और बाबा रामदेव यह दोनों ही लोग गोमूत्र और पतंजलि के प्रोडक्ट जनता से तो इस्तेमाल करने की तरह तरह से अपीले करते हैं। परंतु जब स्वयं इनको इलाज की जरूरत होती है। तो यह ना तो पतंजलि के प्रोडक्ट इस्तेमाल करते हैं। और ना ही गोमूत्र का इस्तेमाल करते हैं। इस तरह साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और बाबा रामदेव जैसे लोग देश की भोली-भाली जनता को बेवकूफ बनाकर उनमें में अंधविश्वास पैदा करने का काम कर रहे हैं। ऐसे लोगों से देश की जनता को सावधान रहना होगा।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया