कोरोना के कहर में क्या अन्तिम संस्कार भी नसीब नही .. ? नदियों में बहाए जा रहे शवों की जांच हो ...


 कोरोना के कहर में क्या अन्तिम संस्कार भी नसीब नही .. ?

नदियों में बहाए जा रहे शवों की जांच हो ...

मेरठ ... 15 मई 2021

न्याय पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस पी सिंह ने राज्य और केन्द्र सरकारों से पूछा है कि क्या कोरोना या अन्य बीमारियों से मृत देशवासियों के नसीब में ढंग से अन्तिम संस्कार भी नही है ? उन्होंने शवों को गंगा में प्रवाहित किए जाने के समाचारों के समाचारों पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि यह बड़ा दुर्भाग्य है कि मृतक को उसकी धार्मिक परम्परा के अनुसार सद्गति भी नही मिल पा रही । समाज को भी इतना निर्दयी नही होना चाहिए । जिन लोगों ने अपनों के लिए जिन्दगी भर कष्ट सहे वे उनके अन्तिम समय में किनारा कर रहे हैं ।

एस पी सिंह ने सरकार शासन प्रशासन से मांग की कि मृतक का संस्कार उनकी धार्मिक परम्परा के अनुसार किया जाए ।

एस पी सिंह ने समाज के धनवान लोगों , उद्योगपतियों , समाज सेवियों से मांग की कि वे ऐसे संकट के समय आगे आएं और सरकार का सहयोग करें ।

एस पी सिंह ने कहा कि सरकार हर शहर में आवश्यक दवा , ऑक्सीजन , खाना , बैड का प्रबंध करे । कोरोना को हर हाल में रोकना है । कोई अपने आप को असहाय न महसूस करे ।

एस पी सिंह ने मांग की कि वे अनाथ बच्चे जिन्होने मां ,बाप या दोनो कोरोना  या अन्य बीमारी में खोए हैं उन्हे पांच हजार रुपए प्रतिमाह और पढ़ाई का खर्च मिलना चाहिए तथा यदि उनके सिर पर मां बाप के टाइम का कोई कर्ज हो तो सरकार उसे माफ करे । 

उनके इलाज के दौरान खर्च किए रुपए की प्रति पूर्ति हो ।

एस पी सिंह ने कहा कि नदियों में बहाए जाने वाले शवों की जांच हो ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया