‌ साथ जी नहीं पाए तो प्रेमी जोड़े ने विषैला पदार्थ खाकर लगाया मौत को गले बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए नवाबगंज बरेली से वीरेंद्र बिष्ट/अकरम मियां की रिपोर्ट प्रेमी जोड़े ने एक-दूसरे को बाहों में लेकर खाया जहर बरेली के तहसील नवाबगंज के थाना क्योंलड़िया क्षेत्र के गांव बहर जागीर के रहने वाले इकबाल के 24 वर्षीय पुत्र रिफाकत के गांव के ही रहने वाले शंकरलाल कश्यप की 22 वर्षीय पुत्री से काफी लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था जिसकी वजह से गांव में लगातार शंकर लाल की बदनामी हो रही थी तो शंकरलाल ने प्रेमी से दूर करने के लिए अपनी पुत्री आरती का 7 माह पहले पीलीभीत के रहने वाले अरुण कुमार से विवाह कर दिया विवाह के बाद भी आरती अपने प्रेमी रिफाकत से फोन पर आए दिन बात करती थी जिसकी भनक आरती के पति अरुण कुमार को भी लग गई अरुण कुमार ने अपनी पत्नी आरती को भरसक समझाने का प्रयास किया लेकिन आरती प्रेम के जुनून में अंधी हो चुकी थी उसे कुछ नहीं दिख रहा था कि मेरी शादी हो चुकी है अब मुझे प्रेमी को भूल जाना चाहिए लेकिन आरती का प्रेम का जुनून और बढ़ गया तब थक हार कर आरती के पति अरुण कुमार ने अपनी पत्नी आरती को उसके मां के घर डेढ़ माह पहले पहुंचा दिया इधर रिफाकत दिल्ली में सिलाई का कार्य करता था। लेकिन वहां से आरती से लगातार उसकी बात होती रहती थी। पिछले दिनों कूंडों के त्यौहार पर अपने घर आया हुआ था। इधर आरती पहले से ही गांव में थी। आरती को देखकर रिफाकत का प्रेम और जाग गया और आरती से उसका मिलना जुलना बढ़ गया 3 दिन पहले भी आरती अपने प्रेमी से जंगल में मुलाकात करने गई थी। जिसे कुछ लोगों ने प्रेम करते हुए फोटो भी ले लिए कल रात 11:00 बजे के बाद रिफाकत के परिवार के जब सभी लोग सो गए तो अपने घर के दरवाजे की बाहर से कुंडी लगाकर अपनी प्रेमिका के साथ अपने चाचा आशिक मोहम्मद के खेत में बनी झोपड़ी में जाकर प्रेम में डूब गया। रिफाकत ने पहले अपनी प्रेमिका से शारीरिक संबंध बनाए उसके बाद एक-दूसरे को बाहों में लेकर विषैला पदार्थ खाकर मौत को गले लगा लिया सुबह 7:30 बजे गांव के चौकीदार ने क्योंलड़िया थाने में फोन किया थानाध्यक्ष क्योंलड़कियां राजेंद्र सिंह सिरोही सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए थाना अध्यक्ष ने सभी एंगल से जांच कर दोनों के शबों को पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेज दिया मौत की असल वजह पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट हो पाएगी समाचार भेजे जाने तक दोनों परिवारों की तरफ से कोई तहरीर किसी खिलाफ नहीं दी गई मामला दो समुदायों से जुड़े होने के कारण पुलिस हर पहलू पर निगाह बनाए हुए हैं




 ‌


साथ जी नहीं पाए तो प्रेमी जोड़े ने  विषैला पदार्थ खाकर लगाया मौत को गले


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए नवाबगंज बरेली से वीरेंद्र बिष्ट/अकरम मियां की रिपोर्ट


प्रेमी जोड़े ने एक-दूसरे को बाहों में लेकर खाया जहर


बरेली के तहसील नवाबगंज के थाना  क्योंलड़िया क्षेत्र के गांव बहर जागीर के रहने वाले इकबाल के 24 वर्षीय पुत्र रिफाकत के गांव के ही रहने वाले शंकरलाल कश्यप की 22 वर्षीय पुत्री से काफी लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था जिसकी वजह से गांव में लगातार शंकर लाल की बदनामी हो रही थी तो शंकरलाल ने प्रेमी से दूर  करने के लिए अपनी पुत्री आरती का 7 माह पहले पीलीभीत के रहने वाले अरुण कुमार से विवाह कर दिया विवाह के बाद भी आरती अपने प्रेमी रिफाकत से फोन पर आए दिन बात करती थी जिसकी भनक आरती के पति अरुण कुमार को भी लग गई अरुण  कुमार ने अपनी पत्नी आरती को भरसक समझाने का प्रयास किया लेकिन आरती प्रेम के जुनून में अंधी हो चुकी थी उसे कुछ नहीं दिख रहा था कि मेरी शादी हो चुकी है अब मुझे प्रेमी को भूल जाना चाहिए लेकिन आरती का प्रेम का जुनून और बढ़ गया तब थक हार कर आरती के पति अरुण कुमार ने अपनी पत्नी आरती को उसके मां के घर  डेढ़ माह पहले पहुंचा दिया इधर रिफाकत दिल्ली में सिलाई का कार्य करता था। लेकिन वहां से आरती से लगातार उसकी बात होती रहती थी। पिछले दिनों कूंडों के त्यौहार पर अपने घर आया हुआ था। इधर आरती पहले से ही गांव में थी। आरती को देखकर रिफाकत का प्रेम और जाग गया और आरती से उसका मिलना जुलना बढ़ गया 3 दिन पहले भी आरती अपने प्रेमी से जंगल में मुलाकात करने गई थी। जिसे कुछ लोगों ने प्रेम करते हुए फोटो भी ले लिए कल रात 11:00 बजे के बाद रिफाकत के  परिवार के जब सभी लोग सो गए तो अपने घर के दरवाजे की बाहर से कुंडी लगाकर अपनी प्रेमिका के साथ अपने चाचा आशिक मोहम्मद के खेत में बनी झोपड़ी में जाकर प्रेम में डूब गया।  रिफाकत ने पहले अपनी प्रेमिका से शारीरिक संबंध बनाए उसके बाद एक-दूसरे को बाहों में लेकर विषैला पदार्थ खाकर मौत को गले लगा लिया सुबह 7:30 बजे गांव के चौकीदार ने क्योंलड़िया  थाने में फोन किया थानाध्यक्ष क्योंलड़कियां राजेंद्र सिंह सिरोही सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए थाना अध्यक्ष ने सभी एंगल से जांच कर दोनों के शबों को पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेज दिया मौत की असल वजह पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट हो पाएगी समाचार भेजे जाने तक दोनों परिवारों की तरफ से कोई तहरीर किसी खिलाफ नहीं दी गई मामला दो समुदायों से जुड़े होने के कारण पुलिस हर पहलू पर निगाह बनाए हुए हैं

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग