किसान और मजदूर के लिए चार काले कानून ब्राह्मणों का षड्यंत्र जो देश के लिए दबे कुचले वर्ग को जहर साबित होगा- राम सुरेश वर्मा*



 *किसान और मजदूर के लिए चार काले कानून ब्राह्मणों का षड्यंत्र जो देश के लिए दबे कुचले वर्ग को जहर साबित होगा- राम सुरेश वर्मा*

मेरठ:- राष्ट्रीय किसान मोर्चा  के राष्ट्रीय अध्यक्ष  माननीय राम सुरेश वर्मा ने अपने वक्तव्य में  ग्राम  मुरलीपुर  में  कहा कि  किसानों के तीन  और एक मजदूर दबे कुचले वर्ग के लिए  वर्तमान भाजपा सरकार  के जहर से भी ज्यादा  कानून बनाए हैं  जो देश को  बेरोजगारी गुलामी की ओर धकेल रहा है लेकिन  जनता इसका विरोध कर रही है  तब भी  केंद्र  सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही। 

राष्ट्रीय किसान मोर्चा  के किसान  जागृति  कार्यक्रम में  संचालन  राम सिंगार  पश्चिमांचल  उत्तर प्रदेश  प्रभारी नहीं किया  बहुजन मुक्ति पार्टी  के प्रदेश मीडिया प्रभारी  आरडी गादरे ने कहा कि आज  देश में भुखमरी  बेरोजगारी  किसान  गरीब  मजदूर मजलूम  दबे कुचले  वर्गों का  जबरदस्त  तरीके से  कुचलने का काम किया जा रहा है  लेकिन हमें  इस जेहाद में  इस क्रांतिकारी आंदोलन में  हिम्मत नहीं हार नहीं है  यह भाजपा का षड्यंत्र  जनता की अब समझ में आ गया है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष  राष्ट्रीय किसान मोर्चा  के माननीय सुरेश वर्मा ने  कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अपने वक्तव्य में कहा कि  हमारा देश  3:30 पर्सेंट  विदेशी यहूदी ब्राह्मण  केसर यंत्र  को समझने के लिए  जनता को  बहुत कुर्बानी देनी होगी  आज झूठ लिखकर, बामनों ने महामूर्ख *कालीदास* को भी *विश्वविख्यात कवि* बना दिया। झूठ लिखकर, बामनों ने अंधे (नेत्रहीन) *सूरदास* को भी *महान कवि* बना दिया।

झूठ लिखकर, बामनों ने *बिष्णुगुप्त मौर्य* को भी *चाणक्य* बना दिया।

झूठ लिखकर, बामनों ने *बुद्ध के पंचतंत्र* को, *बिष्णु शर्मा का पंचतंत्र* बना दिया। झूठ लिखकर, बामनों ने बामन *बीरबल* को, अकबर बादशाह से भी *बड़ा* बना दिया। झूठ लिखकर, बामनों ने *महा डरपोक सावरकर* को भी *वीर सावरकर* बना दिया।

झूठ लिखकर, बामनों ने ब्राह्मणों को क्षत्रिय, वैश्य, शूद्र, अवर्ण से भी ज्यादा *बड़ा ज्ञानी* और *पूजनीय* बना दिया।

झूठ लिखकर, बामनों ने खुद को  भगवान से भी बड़ा *ब्राह्मण*  बना दिया। झूठ लिखकर, बामनों ने अपने बिरोधियों को भी, *अपना हितैषी* बना  दिया। झूठ लिखकर, बामनों ने काल्पनिक *कहानियों* को भी *सच* बना दिया। अब आप ही बताइए- जब झूठ लिखकर, बामन करोड़ों लोगों को *अपना गुलाम* बना सकता है! ....तो क्या? हम सच बोलकर लिखकर, लाखों लोगों को इस गुलामी से *आजाद* नहीं कर सकते ?

तलवार से इतिहास नहीं, भूगोल बदलता है! अगर आपको इतिहास बदलना है, तो *कलम* चलाईऐ!

उन्होंने काल्पनिक चीजों को भी *फेमस* कर दिया। और आप *हकीकत की चीजों* को भी *फेमस* नहीं कर पा रहे! यही हमारी हर स्तर पर *विफलता* का कारण है। अगर आप *लिख नहीं* सकते, तो जो लिख रहे हैं, उनकी बातों को *शेयर करके* दूसरे लोगों तक पहुंचाने का काम तो कर ही सकते हैं!

जब हमने  *बुद्ध,  रविदास, कबीरदास, घासीदास, छत्रपति शाहूजी, पेरियार, ज्योतिबा फुले, गाडगे, अंबेडकर, फातिमा शेख, टंट्या भील,  बिरसा मुंडा, झलकारी बाई, उदादेवी, कांशीराम, लल्लई सिंह यादव, सम्राट अशोक, फूलन देवी* के बारे में लिखना चालू किया, तभी तो लोग इनको जान पाए।

तो जब तक आप *सच* नहीं लिखोगे, तब तक आप इस *झूठ* की गुलामी से लोगों को आजाद नहीं करा सकते! जिनके बाप-दादाओं ने आपके  पूर्वजों  को  *अहिरा, भरवा, चमरा, पसिया, डोमवा, पलवा, गोड़वा, नोनिया, बल्मिकिया, कोंहरा, कोइरी, धोबिया, खटिका, पटेलवा, मल्लहवा* कह कर पुकारते थे और आज भी पुकारते हैं, तो आप लोग उनकी *सांप जैसी संतानों* पर आंख मूंद कर *विश्वास* कैसे कर रहे हो? अरे बहुजन समाज के मूर्खों! वह दूध भी आपका *पीते* हैं और *काटते* भी आपको ही हैं । आपके *हक-अधिकार* भी वही छीनते हैं और आपका  *विरोध* भी यही लोग करते हैं।  वे आपको मुसलमानों का *डर दिखाकर*, आपके  हक-अधिकार, सत्ता छल-कपट से *छीन* लेते हैं, फिर आप *हाथ मलते* रह जाते हो।  आप अपने अधिकार पाने की उम्मीद *इन्हीं सांपों* से करते हो, तो भला! आपसे *बड़ा मूर्ख* और कौन हो सकता है?

 अब बहुत *देर* कर रहे हो, जल्द *सचेत* हो जाओ। बैठक में राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील कुमार सैनी राष्ट्रीय किसान मोर्चा के पश्चिमांचल प्रभारी राम सिंगार बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे जिला अध्यक्ष ओमवीर सिंह राष्ट्रीय किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष चौधरी मोहम्मद इस्तयाक उपाध्यक्ष जबर पाल सिंह, डी एस पी जाटव धर्मेंद्र कुमार गुर्जर मुनकाद अली राजपूत वसीम सैफी आसिफ कुरेशी चौधरी विजेंद्र पाल सिंह धीरेंद्र कुमार भड़ाना सत्येंद्र गौतम मनोज कुमार जाटव दिनेश कुमार गुर्जर चौधरी वीरेंद्र पाल सिंह ग्राम प्रधान संजीव कुमार जिला सिंह कुमार वीरेश सैनी राम नरेश कश्यप ओंकार प्रजापति एहतेशाम रंगरेज मनोज भड़ाना एडवोकेट राहुल एडवोकेट अंजार अंसारी सुरेश यादव आदि।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग