आज दिनांक 1 मार्च 2020 को बरेली जनपद के अभियंता साथियों के साथ उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत परिषद अभियंता संघ की बैठक जोन आफिस बरेली में आहूत की गई।


 *बरेली से जावेद सईद खान की रिपोर्ट* 


आज दिनांक 1 मार्च 2020 को बरेली जनपद के अभियंता साथियों के साथ उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत परिषद अभियंता संघ की बैठक जोन आफिस बरेली में आहूत की गई।

सभा में कोर कमेटी ऑडिटर गौरव शुक्ला ,क्षेत्रीय सचिव बरेली क्षेत्र,अधीक्षण अभियंता नगरीय एवं ग्रामीण एवम शहर के अन्य तेज तर्रार अभियंता साथियों ने सहभागिता सुनिश्चित की।

*सभा के मुख्य बिंदू - अभियंताओं के हो रहे उत्पीड़न,बेसमय मीटिंग एवम आनलाइन कॉन्फ्रेंसिंनग, टूलकिट ,सुरक्षा एवं टेस्टिंग उपकरण तथा मैन मैटेरियल की ग्राउंड पर आगामी गर्मी में आवश्यकता , खाली सीटो पर नए युवाओं को रोजगार देने ,डाटा रिडेंडेंसी एवं नए बिजलीघरो एवं ऑफिसों के निर्माण रहे*।

इन सभी मुद्दों को ज्वलंत रूप में अभियंताओं ने मुखर होते हुए जल्द से जल्द निस्तारण हेतु प्रबंधन के समक्ष प्रस्तुत किया जिससे कार्य क्षेत्र में सकारात्मक माहौल बने एवं जल्द इन मुद्दों पर हल न निकलने पर नकारात्मक परिणाम आने की बात कही।

तीन नए अभियंता साथियों का अधीक्षण अभियंता बरेली नगरीय द्वारा अभियंता संघ में स्वागत किया गया एवम जिले के सभी सदस्यों को एक साथ होकर शक्ति प्रदर्शन हेतु हमेशा तैयार रहने हेतु आह्वाहन किया गया।

अधीक्षण अभियंता ग्रामीण द्वारा सभी उपस्थित अभियंताओं का मनोबल बढ़ाया गया ।

ऑडिटर महोदय द्वारा सभी शेष अभियंता को अभियंता संघ की मैगजीन तथा कैलेंडर वितरित करवाते हुए संघ के बुनियादी मूल्यों का अनुसरण करने हेतु कहा गया।

क्षेत्रीय सचिव महोदय ने ना उपस्थित हो पाने वाले अभियंताओं को आगामी अभियंता संघ की बैठक में समय से उपस्थित होने हेतु स्पष्ट अपील करते हुए हर माह प्रथम सप्ताह में अभियंता संघ की मासिक बैठक करने का निश्चय किया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग