आंदोलन से साबित हो गया कि बीजेपी सरकार किसान मजदूर मजलूम विरोधी तानाशाही सरकार-गादरे*


*किसान आंदोलन से साबित हो गया कि बीजेपी सरकार किसान मजदूर मजलूम विरोधी तानाशाही सरकार-गादरे*
*(हिंदू राष्ट्र समाधान होता तो नेपाल वाले भारत में हींग और शिलाजीत बेचते हुए नहीं घूमते*)
मेरठ/दिल्ली:- किसान आंदोलन से यह साबित हो चुका है की बीजेपी सरकार जनविरोधी किसान मजदूर मजलूम विरोधी सरकार है और हिंदू राष्ट्र बनाने के चक्कर में मुस्लिमों को मारने के झांसे में तमाम भारत देश को खतरे में डाल दिया और पूरे भारत देश की अर्थव्यवस्था ही नहीं गरीब मजलूम मजदूर प्रत्येक भारतीय की कमर तोड़ कर रख दी।
बहुजन मुक्ति पार्टी के पश्चिमांचल महासचिव एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आरडी गादरे बहुजन मुक्ति पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के साथ गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे और किसान आंदोलन को लिखित में सहयोग करने का आश्वासन पत्र सौंपा और यदि सरकार किसान विरोधी बिल वापस नहीं लेती है तो भारत देश में जन आंदोलन करने को प्रत्येक भारतीय से आवान किया और सहयोग देने के लिए भी आह्वान किया गया आरडी गादरे ने अपने वक्तव्य में कहा कि भारतीय जनता पार्टी भारत देश को हिंदू राष्ट्र बनाने के चक्कर में लगी हुई है क्या इसका समाधान हिंदू राष्ट्र है यदि हिंदू राष्ट्र ही है तो भारत के पड़ोसी नेपाल से हिंदू राष्ट्र देश है लेकिन वहां के लोग भारत में हींग और शिलाजीत बेचते हुए गली-गली घूमते फिरते हैं और चौकीदारी का नौकरी की तलाश में दर-दर भटकते हैं देश को देश की जनता को भारतीय जनता पार्टी और इसके सहयोगी संगठन गुमराही के रास्ते पर ले जा रहे हैं। जिससे तमाम भारत देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई और पूंजी पतियों को लगातार मालदार कर दिया गरीब जनता का मजदूर मजलूम किसानों का खून चूसने पर लगी हुई है। और कुछ पूंजी पतियों को अरबों खरबों रुपया भेंट चढ़ा रही है पूरा देश आज बेरोजगार हो चुका है और भुखमरी की कगार पर खड़ा हुआ है।  भारत कृषि प्रधान देश कहा जाता है। आज उनके रास्तों में जैसे किसी देश का बॉर्डर हो ऐसे दिल्ली में बॉर्डर पर कांटे कटीली और डिवाइडर ही नहीं रुकावटें खड़ी कर दी है जिससे तमाम आने जाने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है इससे साबित हो रहा है कि भारतीय संविधान पूर्ण तरह से खतरे में हैं और लोकतंत्र की धज्जियां सरकार मोदी सरकार योगी सरकार जनता के मौलिक अधिकारों का हनन कर रही है यह कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा आंदोलन में जिला अध्यक्ष ओमवीर सिंह उपाध्यक्ष महल उद्दीन सोमेंद्र सिंह महेंद्र प्रताप सोहन वीर मेहराजुद्दीन मैनुद्दीन इकराम सैफी मोहम्मद आसिफ गुरमेज सिंह गुरदेव सिंह बलबीर गुर्जर रियाज कतार सोहन वीर बौद्ध आदि पहुंचे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग