पशुपति बिहार कॉलोनी में एक खाली पड़े प्लाट पर आए दिन विवाद होता रहता है। खाली पड़े प्लाट पर शहर के संदिग्ध लोगों की नजर है।



 बरेली 10 फरवरी पशुपति बिहार कॉलोनी में एक खाली पड़े प्लाट पर आए दिन विवाद होता रहता है। खाली पड़े प्लाट पर शहर के संदिग्ध लोगों की नजर है। जिसके कारण आए दिन कॉलोनी में अपराधिक किस्म के लोग अवैध हथियारों के साथ आए दिन आतंक मचाते रहते हैं। जिसको लेकर कॉलोनी के लोग मैं भय का वातावरण बना हुआ है। उसी कॉलोनी में बसपा नेता तौफीक प्रधान का मकान भी है। और उनके मकान के करीब खाली पड़े प्लाट पर अक्सर विवाद होता है। यहां बताते चलें बसपा नेता तौफीक प्रधान नगरिया कला को राजनीतिक रंजिश के कारण छोड़कर पशुपति बिहार कॉलोनी में अपना मकान बनाकर रह रहे हैं। परंतु तौफीक प्रधान की रंजिश अधिक होने के कारण उनका परिवार भी भयभीत रहता है। इसी क्रम में 28 जनवरी को बसपा नेता तौफीक प्रधान अपनी पत्नी नगीना बेगम पूर्व प्रधान को साथ लेकर 1 दिन की जिलाधिकारी कुमारी शक्ति गंगवार के दरबार में अपनी व परिवार की सुरक्षा को लेकर जिला अधिकारी से मिली थी। उस समय 1 दिन की जिलाधिकारी शक्ति गंगवार के साथ वर्तमान जिला अधिकारी नीतीश कुमार ने तौफीक प्रधान और उनकी पत्नी को आश्वासन दिया था। कि आप की सुरक्षा हेतु आपको बंदूक का लाइसेंस दिया जाएगा। आज खाली पड़े प्लाट को लेकर जब वहां पर हथियारों से लैस कुछ असामाजिक तत्व कॉलोनी में आए तो पूरी कॉलोनी के लोग तो भयभीत थे ही परंतु उनसे कहीं ज्यादा तौफीक प्रधान का परिवार भी भयभीत हो गया। इस संबंध में आज कुछ मीडिया कर्मियों ने कॉलोनी के लोगों से बात की तो पता चला कि खाली पड़े प्लाट को लेकर कुछ लोग कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं। और आए दिन खुले तमंचे लेकर प्लाट पर आकर भय का माहौल बनाने का प्रयास करते हैं। इस संबंध में कॉलोनी के लोगों और तौफीक प्रधान ने बताया कि उनकी रंजिश कुछ लोगों से चल रही है। जिसके कारण वह गांव छोड़कर बरेली आकर बस गए हैं। उन्हें इस बात का डर सताता है। कहीं इस प्लाट के चक्कर में उनके विरोधी आकर उनके साथ कोई घटना ना गठित कर दें। उनका कहना है। हम इस भूल में रहे कि मामला प्लाट के कब्जे को लेकर है। और हमारे विरोधी हम पर हमला कर जाएं अब देखना यह है। कि आज की घटना के बाद जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन पशुपति बिहार कॉलोनी के लोगों में भय को समाप्त करने के लिए वहां पर सुरक्षा के क्या प्रबंध करता है। और तौफीक प्रधान जिनकी जान को हर वक्त खतरा बना रहता है। क्या उनकी सुरक्षा के लिए भी जिला प्रशासन कोई उचित कदम उठाएगा। इस संबंध में थाना बांदरी की जगतपुर पुलिस चौकी को भी सूचना दी जा चुकी है और तौफीक प्रधान की रंजिश का मामला जिला प्रशासन के संज्ञान में भी है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग