बढ़ती महंगाई पेट्रोल व डीजल के बढ़ते दामों घरेलू गैस कनेक्शन पर बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ 23 मार्च को राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी धरना देगी






लखनऊ  राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी  के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष कमलेश यादव के नेतृत्व में  देश में बढ़ती महंगाई, पेट्रोल डीजल  वेगास के बढ़ते दामों आदि मुद्दों को  लेकर पार्टी के पदाधिकारियों की बैठक की। इस  बैठक में पार्टी महासचिव, जिलाध्यक्ष, मीडिया प्रभारी व राष्ट्रीय मज़दूर एकता पार्टी के  कार्यकर्ता मौजूद रहे। बैठक में तय पाया कि 23 मार्च को पार्टी धरना देगी

राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी की  कार्यकारिणी बैठक में बढ़ती महंगाई, गैस सिलिंडर के दामों में बढ़ोतरी और पेट्रोल डीजल के दामों में उछाल को लेकर चर्चा की गई। बढ़ती महंगाई  पेट्रोल और डीजल के दामों से मजदूरों की जिंदगी पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर चिंता व्यक्त की गई  वक्ताओं ने कहा कि आज मजदूरों का जीना दूभर हो गया है जहां एक तरफ मजदूरों के लिए काम नहीं है वहीं दूसरी तरफ महंगाई ने उनका जीना दूभर कर दिया है घर का चूल्हा चलाना मुश्किल होता जा रहा है गैस के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं और जहां 2014 में गैस ₹414 प्रति सिलेंडर मिलता था आज ₹769 में गैस सिलेंडर मिल रहा है  बढ़ते दामों को सरकार को तुरंत कम करना चाहिए ताकि लोगों की जिंदगी आसान हो सके  यदि इसी तरह चलता रहा  तो  लोग किस तरह अपना जीवन यापन करेंगे लोगों के मुंह से  जहां निवाला छीना जा रहा है वही छोटे-छोटे बच्चों को आज दूध भी पीने को नहीं मिल रहा है गरीब आदमी करे तो क्या करें राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी ने गरीब आदमी की जिंदगी और मजदूरों के  काम ना होने की  स्थिति में उनके साथ होने वाले अन्याय पर चर्चा की ।पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष कमलेश यादव ने कहा कि इन सब मुद्दों पर पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने इस बात पर सहमति जताई कि अगर आगामी बजट में इन मुद्दों पर सरकार ध्यान नही देती है तो 23 मार्च को हज़रतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर पार्टी तमाम कार्यकर्ताओं के साथ धरना देगी।पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलेश यादव ने कहा कि 23 मार्च को आयोजित इस धरने में लखनऊ समेत आस पास के जिलों से कार्यकर्ता आएंगे और इन मुद्दों पर सरकार का ध्यान केंद्रीत कराएंगे। वहीं पार्टी के  उत्तर प्रदेश के चेयरमैन अमित यादव का कहना है कि इस धरना इसलिए जरूरी है क्योंकि सरकार जनता की मूलभूत समस्याओं पर ध्यान नही दे रही है। केवल कागजी दावें कर रही है। लॉक डाउन के बाद से एक आम इंसान त्रस्त हो चुका है, ऐसे में दिन प्रतिदिन बढ़ती महँगाई से आम इंसान अपना व अपने परिवार का पेट नही पाल पा रहा है। सरकार इन समस्यओं पर ध्यान दे। हमने इसीलिए वोट दिया है कि हमारी समस्याओ का निस्तारण  करे।

 श्री अमित यादव ने कहा कि सरकार में आने से पहले भाजपा ने बड़े सुनहरे सपने दिखाए थे कि सबका साथ सबका विकास किया जाएगा। आज केवल अंबानी - अडानी का विकास किया जा रहा है । और मजदूर को मरने के लिए छोड़ दिया है। मजदूरों का जीना दूभर हो गया है। मजदूरों को काम की गारंटी का कानून बनाया जाना चाहिए ताकि मजदूर एक अच्छा जीवन जी सकें।राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी मजदूरों के हकों के लिए संघर्ष करती रहेगी।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग