ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव मुस्तकीम मंसूरी ने आज जारी एक बयान में मुस्लिम मजलिस की ओर से कहा कि 22 फरवरी से सरकार ने पैसेंजर ट्रेनें चलाने का फैसला तो लिया


 लखनऊ 20 फरवरी ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव मुस्तकीम मंसूरी ने आज जारी एक बयान में मुस्लिम मजलिस की ओर से कहा कि 22 फरवरी से सरकार ने पैसेंजर ट्रेनें चलाने का फैसला तो लिया परंतु उस फैसले के साथ ही पैसेंजर ट्रेनों का किराया दोगुना करने का ऐलान करके देश की 80% गरीब जनता पर एक बोझ और डाल दिया है। जो जनहित में न होकर पूंजीपतियों के हित का फैसला है। मुस्तकीम मंसूरी ने कहा सरकार का हर फैसला जनविरोधी है। सरकार पेट्रोल डीजल गैस के दामों में लगातार वृद्धि कर रही है। जिसके कारण जनता में त्राहि-त्राहि मची हुई है।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी करके किसानों और गरीबों को भाजपा सरकार संकट में ढकेल रही हो देश में पेट्रोल डीजल सहित ईंधन की कीमतें आसमान छू रही है कई जगह पेट्रोल ₹100 लीटर से ऊपर निकल गया है। एक समय था। जब कच्चे तेल की कीमत एक सौ डॉलर प्रति बैरल के रूप में उच्चतम स्तर पर पहुंची थी। और देश में ईंधन महंगा हो गया था। तब भाजपा विपक्ष में थी और उपभोक्ताओं को बचाने के लिए सरकार को घेर रही थी। उन्होंने कहा आज जब कच्चा तेल 55 से 60 डॉलर प्रति बैरल के आसपास है। जो 2014 की कीमत से लगभग आधा है।

मुस्तकीम मंसूरी ने सवाल करते हुए कहा फिर देश में इंधन इतना महंगा क्यों? जबकि सत्ता में वहीं भाजपा सरकार है। जो कभी महंगे इंधन के खिलाफ धरने प्रदर्शन करती थी। उन्होंने कहा आज तेल पर विशेष अतिरिक्त उत्पादन शुल्क, सड़क और बुनियादी ढांचे के उपकर, और कृषि संस्कृति और विकास उपकर, में वृद्धि कर सरकार आम जनता पर भारी बोझ डाल रही है। जो सरासर देश की जनता पर अत्याचार है। मुस्तकीम मंसूरी ने सरकार द्वारा लगातार देश में डीजल पेट्रोल गैस की मूल वृद्धि और रेलवे का किराया दोगुना किए जाने पर जहां केंद्र सरकार को जनविरोधी ठहराया वही सदन में कमजोर विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुए। कहा अब विपक्ष के अंदर सरकार का विरोध करने का साहस खत्म हो गया है। विरोध का आसान तरीका विपक्ष ने अपना लिया है। ट्विटर पर ट्वीट करके विरोध दर्ज कर दो और जनता को लूटने दो।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग