#बामसेफ_की_सबसे_बड़ी_उपलब्धि_


 #बामसेफ_की_सबसे_बड़ी_उपलब्धि_..!


"आजकल हमारे बहुत से लोग आरएसएस की तरफदारी {तारिफ} करते हुए नजर आ रहे है । एक तरफ आरएसएस की तारीफ करणा और दुसरी तरफ बामसेफ की आलोचना करणा यही इन लोगों का नित्यक्रम बन चुका है ।


आरएसएस इस देश में हिंदू राष्ट्र का नही बल्की ब्राह्मण राष्ट्र का निर्माण करणा चाहता है । ब्राह्मण राष्ट्र यानी की फिरसे मनुस्मृती / फिरसे वही जुल्म / फिरसे वही कायदे कानून..! जिसमें सिर्फ ब्राह्मणों की ही हुकूमत / आझादी और मूलनिवासी - बहुजन समाज के लोग गुलाम होणे चाहिए । ऐसे गंभीर हालत आरएसएस निर्माण करणा चाहती है ।


आज बामसेफ की वजह से आरएसएस यह सबकुछ करणे के लिए ड़र रहा है । और उसमें वह विफल भी हो रहा है । आरएसएस हर एक प्लान सिर्फ और सिर्फ बामसेफ की वजह से नाकामयाब हो रहा है । और सबसे खास बात बामसेफ की वजह से ही ब्राह्मण धर्म {हिंदू} खतरे में आ चुका है ।


बहुत से लोग मुझे पुछते है की, भाई.! बामसेफ ने आज तक क्या किया? तो मै उन लोगो से सिर्फ एक ही बात बताना चाहता हुँ की, भाई.! बामसेफ ने ब्राम्हणी व्यवस्था से पिढीत हर एक जाती को जोड़ा है । जाती जोड़ने से ब्राह्मण को चिंता होणी चाहिए । जाती जोड़ने से ब्राह्मण / ब्राह्मणवाद / ब्राह्मणी व्यवस्था / ब्राह्मणी धर्म खतरे मे आना चाहिए । जाती जोड़ने से ब्राह्मण अकेला पड़ना चाहिए / कमजोर होणा चाहिए । और वही हो रहा है । इसलिए यदी यह सब लोग एकसाथ आने से हमारी ताकद बड़ जाती है / दुगनी होती है । और ब्राह्मणों की कम होती है । तो इसमे फायदा हमारा और नुकसान ब्राह्मणों का ही होता है । यह बात हमारे कुछ लोगों को समझनी चाहिए ।


बहुत जल्द बामसेफ क्रांती का आगाज करणेवाला है । बहुत जल्द बामसेफ की कुछ ऑफशुट विंग ब्राह्मणी व्यवस्था के खिलाफ आक्रामक होणेवाले है । इससे ब्राह्मणों में ड़र का माहौल निर्माण होणा चाहिए । हमारे लोगों में नही । बामसेफ ने शिख, लिंगायत, बुध्दीस्ट, इस्लाम धर्म के सभी लोगों को एक मंच पर लाया है । इससे ब्राह्मणों को दुख और हमारे लोगों को खुशी होणी चाहिए ।


बामसेफ ईस देश में जो कुछ भी आंदोलन कर रहा है । वह सिर्फ हमारे देश और देश के सभी मूलनिवासी लोगों को बचाने के लिए और उनके हित के लिए ही कर रहा है । बहुत से लोग बामसेफ / भारत मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मा. वामन मेश्राम साहब को कहते है की, आप सिर्फ आदेश दो । लेकीन मान्यवर मेश्राम साहब हर एक कदम / निर्णय संविधान के दायरे में रहकर ही ले रहे है । आप अंदाजा लगा सकते है की, उन्होंने इस घटिया ब्राह्मणी व्यवस्था के खिलाफ सिर्फ राष्ट्रीय नही बल्की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर {युनो} भी जनमत हासिल किया है । यह कोई मामूली बात नही यह बहुत बड़ी बात है । 


इसलिए जो भी लोग आरएसएस की तरफदारी और बामसेफ की आलोचना करते है । उन्होंने सिर्फ एक बार बामसेफ को समझने की कोशिश करणी चाहिए । आप भी कहेंगे की, सचमुच हमारा देश, देश का हर एक नागरिक बामसेफ की वजह से सुरक्षित है । वरणा ब्राह्मण लोग आपके गले में कबका मड़का और कमर झाड़ू बाँध देते थे । लेकीन ऐसा नही हो रहा यह बामसेफ की ही देन है । इसलिए मेरी नजर में यह बामसेफ की सबसे बड़ी उपलब्धि है".

- निरंजन लांडगे. 

(भारत मुक्ति मोर्चा)

जय मूलनिवासी..

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग