क्रांतिकारियों की शहादत को भुलाया नहीं जाएगा : महेश शर्मा


 क्रांतिकारियों की शहादत को भुलाया नहीं जाएगा : महेश शर्मा


बागपत। विवेक जैन


काकोरी कांड के अमर बलिदानी पंडित राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खा व ठाकुर रोशन सिंह के बलिदान दिवस के मौके पर नगर के लोगों ने राष्ट्र वंदना चौक पर स्थापित क्रांतिकारियों की प्रतिमाओं पर फूल माला पहनाकर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी। 


इस मौके पर प्रमुख समाजसेवी एवं नगरपालिका बागपत के वरिष्ठ लिपिक महेश शर्मा ने अमर शहीदों के जीवन वृत्त पर प्रकाश डाला। कहा कि अमर शहीदों का जीवन सभी लोगों के लिए प्रेरणादायक है। अमर शहीदों ने ब्रिटिश सरकार की चूल्हे हिला दी थी। काकोरी कांड के तीनों क्रांतिकारियों को 19 दिसंबर 1927 को अलग-अलग जेलों में फांसी दी गई थी। अमर शहीद अशफाक उल्ला खा को गोरखपुर जेल में, पंडित राम प्रसाद बिस्मिल को फैजाबाद जेल में व ठाकुर रोशन सिंह को इलाहाबाद जेल में फांसी दी गई थी। कहा कि यह इत्तेफाक ही है कि तीनों क्रांतिकारियों का जन्म उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में हुआ था तथा एक ही दिन उन्हें फांसी दी गई थी। उन्होंने कहा कि राष्ट्र की आजादी के दीवाने क्रांतिकारियों की शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता। अंत में सभी ने उनकी आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा। इस मौके पर पूर्व प्रधानाचार्य नरेश कुमार शर्मा, ब्राह्मण समाज के प्रदेश संरक्षक राजपाल शर्मा, राधेश्याम शर्मा, नरेश चौहान, चौधरी जसवीर सिंह आदि थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग