- आदेश गुप्ता ने एमसीडी की ज़मीन पर अवैध कब्जा किया, भाजपा के दिल्ली प्रदेश का शीर्ष नेतृत्व ही भ्रष्टाचार में शामिल है तो बाकी पार्षदों का क्या हाल होगा- विकास गोयल*

नई दिल्ली: 27 जनवरी 2022*आज उत्तरी दिल्ली नगर निगम के सदन की बैठक में विपक्ष के नेता विकास गोयल ने दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता के खिलाफ आवाज उठाई। आदेश गुप्ता ने करोल बाग में जिस जमीन पर अनाधिकृत रूप से कब्जा किया था, एलओपी विकास गोयल ने उसका मामला उठाया। उन्होंने महापौर से सदन में इस विषय पर चर्चा करवाने की मांग की लेकिन भाजपा नेताओं ने हर बार की तरह इस बार भी चर्चा नहीं होने दी।


बैठक में एक बार फिर आम आदमी पार्टी ने इस विषय मे निष्पक्ष जांच करवाने और आदेश गुप्ता को दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के पद से तथा निगम की सदस्यता से तुरन्त बर्खास्तगी की मांग की है।नॉर्थ एमसीडी के नेता विपक्ष विकास गोयल ने कहा कि आज नॉर्थ एमसीडी के सदन की बैठक थी। जिसमें मैंने महापौर से कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने एमसीडी की जिस ज़मीन पर अवैध रूप से कब्जा किया है, उसपर चर्चा होनी चाहिए। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन लोगों मुद्दे को पूरी तरह दरकिनार कर दिया। हर बार की तरह इस बार भी उन्होंने दूसरे मुद्दों पर नारेबाजी शुरू कर दी और इस मुद्दे पर चर्चा नहीं होने दी। चूंकि एमसीडी को भाजपा ही देखती है, तो कार्रवाई भी उन्हीं को करनी है, इसलिए न तो इसपर कोई चर्चा हो रही है न ही कोई एक्शन लिया जा रहा है।दिल्ली में जगह-जगह बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता के पोस्टर लगे हुए हैं। उनपर साफ लिखा है कि आदेश गुप्ता ने निगम की ज़मीन पर अवैध कब्जा किया हुआ है। आदेश गुप्ता के घर के सामने एमसीडी का स्कूल था, जिसपर उन्होंने कब्जा कर अवैध निर्माण किया। यहां तक खुद हाई कोर्ट ने अवैध निर्माण के चलते आदेश गुप्ता को नोटिस जारी किया था। लेकिन आदेश गुप्ता ने अबतक इसपर चुप्पी नहीं तोड़ी है। न ही उनके खिलाफ कोई जांच या कार्रवाई हो रही है। मेरा यही कहना है कि यदि भाजपा के दिल्ली प्रदेश का शीर्ष नेतृत्व ही भ्रष्टाचार में शामिल है तो बाकी पार्षदों का क्या हाल होगा? निगम में शासित भाजपा नेता निगम के आने वाले चुनाव में अपनी हार की आहट को पहचान गए हैं इसलिए अब उन्होंने निगम की संपत्तियों को औने -पौने दामों में बेचकर भ्रष्टाचार करने के साथ-साथ निगम की जमीनों को भी कब्जाना शुरू कर दिया है। निता विपक्ष होने के नाते मैंने इस विषय मे निष्पक्ष जांच करवाने और आदेश गुप्ता को दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के पद से तथा निगम की सदस्यता से तुरन्त बर्खास्तगी की मांग की है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया