उत्तर प्रदेश में दोबारा सत्ता पाने के लिए भाजपा आलाकमान कर रहा है, उत्तर प्रदेश के बंटवारे पर विचार, आखिर क्यों?

 

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए यूपी प्रभारी मुस्तकीम मंसूरी की ख़ास रिपोर्ट


भाजपा आलाकमान का एक नया विचार उत्तर प्रदेश को दो या तीन हिस्सों में बांटने पर हो रहा है, मंथन।

पूर्वांचल को एक अलग राज बनाने पर हो रहा है, मंथन, विधानसभा चुनाव से पहले हो सकता है विभाजन।

नई दिल्ली 11 जून, आज हुई मोदी और योगी की मीटिंग में इस मुद्दे पर सिद्धांतत: सहमति बनने की चर्चा के उपरांत कुछ देर बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ होने वाली मीटिंग को भी इसी संदर्भ में देखा जा रह है, और इस संदर्भ में इसके साथ ही एके शर्मा की यूपी में तैनाती भी इसी से जोड़कर देखी जा रही है।

जानकार सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है, अगर पूर्वांचल बना तो योगी का गढ़ गोरखपुर भी इसी नए राज्य में आएगा, और साथ ही अयोध्या, काशी, और मथुरा भी  अलग-अलग राज्यों में जाएंगे।


यहां यह बताते चलें कि इससे पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने ही यह प्रपोजल तैयार किया था। मायावती द्वारा नवंबर 2011 में यूपी को चार हिस्सों में बांटने का प्रस्ताव भेजा गया था केंद्र सरकार के पास यूपी को चार राज्यों पूर्वांचल, बुंदेलखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, और अवध प्रदेश, में बांटने का था प्रस्ताव।

परंतु सपा सरकार बनने के बाद ठंडे बस्ते में चला गया था प्रस्ताव। मायावती का यूपी को चार हिस्सों में बांटने का यह प्रपोजल, अब एक बार फिर केंद्र कर रहा है, गंभीरता से इस मसले पर गंभीर विचार, क्योंकि यूपी विधानसभा में योगी के पास पूर्ण बहुमत है। और वही लोकसभा और राज्यसभा मैं भी नहीं आएगी प्रस्ताव पास करने में कोई अड़चन, यहां यह बताना जरूरी है, अगर पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के प्रपोजल को ध्यान में रखकर उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांटा जाता है। तो निश्चित तौर पर प्रदेश को विकास की गति मिलेगी और रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे जो जनहित में अत्यंत आवश्यक है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया