पसमांदा मजलूम गरीब मलिन बस्ती में बीमारियों परेशानियों को कोई सुनने देखने वाला नहीं वर्तमान विधायक मेयर पार्षद की बला से-गादरे*


 *पसमांदा मजलूम गरीब मलिन बस्ती में बीमारियों परेशानियों को कोई सुनने देखने वाला नहीं वर्तमान विधायक मेयर पार्षद की बला से-गादरे* 

मेरठ:- इस आपदा  दुख भरी  घड़ी में पसमांदा मजलूम गरीब मलिन बस्तियों में बीमारियों परेशानियों को कोई सुनने और देखने वाला नहीं वर्तमान विधायक मेयर पार्षद की बला से लोगों का हुआ बुरा हाल।

बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे ने मेरठ दक्षिण के वार्ड एवं गांवों का दौरा किया और लोगों की परेशानी की घड़ी में दुख बांटने का कार्य किया लोगों की जन समस्याओं को सुना और देखा और यह भी पाया की मलिन बस्तियों में वर्तमान सरकार के मौजूद विधायक भी मौजूद है। मेयर और पार्षद के इलाकों में सड़कें टूटी हुई और पानी सडको पर भरे हुए जो बीमारियों को बुलावा देते हैं। परेशानियों का सबब बनते हैं साफ सफाई पर जन सुविधाओं पर किसी का ध्यान नहीं है। आज इस आपदा में इस सरकार ने लोगों को और फटीचर बना दिया। लोगों के रोजगार छीनने वाली योगी मोदी सरकार से व्यापारी किसान मजलूम मजदूर सभी वर्ग दुखी बैठे हैं लोग बेरोजगार हो गए व्यापारी व्यापार खो गए आज घरों में कैद हैं।

भारत देशवासियों से अपील है लॉक डाउन का कोई ठोस कदम निकालना होगा अगर हम यूं ही सरकार की बातें मानते रहेंगे तो यह लोग हमें आर्थिक कमजोर कर देंगे? यह स्थिति और भयानक हो जाएगी। बीमारियां  तो पहले से भी आए हैं लेकिन उसका इलाज  लॉकडाउन नहीं होता  बीमारियों का इलाज किया जाता है सुविधाएं मुहैया कराई जाती है। इसलिए सभी जनता को मिलकर सामूहिक लॉक डाउन का विरोध करना चाहिए और सड़कों पर आना चाहिए? इस सरकार में यदि कोई अपनी आवाज उठाता है तो शासन प्रशासन भी उल्टा चोर कोतवाल को डांट ने वाला कार्य जैसा व्यवहार कर किया जा रहा है। लोकतंत्र पूरी तरीके से खतरे में है हमें इस को बचाना होगा।

सभी पक्ष विपक्ष की पार्टियां मिल का षड्यंत्र कर रही है और हम लोगों की आर्थिक स्थिति खराब हो रही है। इसलिए देश के नेताओं के भरोसे मत रहो हम लोगों को ही कोई ठोस कदम उठाना होगा इसलिए अन्यथा हम आर्थिक मार से इतने पीछे चले जाएंगे कि कोई हमारी सहायता करने वाला नहीं होगा सरकार ने कोई हमें बिजली का बिल माफ नहीं किया किसी भी तरह की रियायत नहीं दी और ना ही विपक्ष इसकी और पैरवी कर रहा है। सब मिलकर राजनीति कर रहे हैं। देश का और हमारे बच्चों का और हमारा भविष्य खराब कर रहे हैं इन नेताओं का कुछ नहीं बिगड़ेगा इनके पास अरबों खरबों रुपए हैं। आपदा दुख भरी घड़ी में भी लोग गरीब मजलूम पसमांदा वर्ग से मलिन बस्तियों को इलाज के नाम पर भी लूटने पर लगे हुए हैं आर डी गादरे ने आगे बताया कि वार्ड 75 में जलभराव का मस्जिद के करीब जबरदस्त बुरा हाल है वार्ड 87 के इंडियन पब्लिक स्कूल के पीछे वाली गली, लिसाड़ी रोड, नरहेड़ा का रास्ता हो बोर्ड बुरा लगा हो सो लाने का हो या काशी का पिटारा की ओर हमने काफी जगह पर सड़कें टूटी हुई है जो मरीज उन सड़कों पर निकलता है तो गलतियों से ही दम तोड़ देता है हमें एस सी एस टी ओबीसी एंड माइनॉरिटी का हितेषी बहुजन मुक्ति पार्टी के कार्यों को भी मौका देना चाहिए जबकि आज तक जो सरकारें आई सब लूट खसोटने पर लगी है। लेकिन आज वर्तमान सरकार ने तो गरीबों को और भूखो मरने पर मजबूर कर दिया है मानो ठेका ही ले लिया है। और अपनी जेबों को गरम करने और अपने कार्यालयों को बनाने या गरीब मजलूम परिवारों के खिलाफ नए नए कानून बनाने का ही काम किया। आज किसान 6 महीनों से सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं लेकिन इस सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग रही हैं क्योंकि यह ईवीएम से बनी हुई सरकार है तो ईवीएम हटाओ देश बचाओ का भी अभियान चलाना होगा मोबिन मलिक ओमवीर सिंह आसिफ सैफी सत्येंद्र बराला बलवीर सिंह खुर्शीद आलम लुकमान सैफी अरशद अल्वी मोहन बड़ा रा बृजेश सैनी मोनू वाल्मीकि रविंद्र प्रताप आवेश अहमद एडवोकेट कारी मोहम्मद इरफान चौधरी तालिब आदि आदि ने भी लोगों की परेशानियां सुनकर जल्द से जल्द समस्याओं का निवारण का आह्वान किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया