भारतीय राष्ट्रवादी लेखक संघ ने वसीम रिजवी के खिलाफ जांच कराए जाने की मांग की।




 भारतीय राष्ट्रवादी लेखक संघ ने वसीम रिजवी के खिलाफ जांच कराए जाने की मांग की।


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट।


बरेली 12 अप्रैल राष्ट्रवादी लेखक संघ के राज्य अध्यक्ष चौधरी अनवर एवज़ ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को एक ज्ञापन भेजकर वसीम रिजवी के खिलाफ जांच कराए जाने की मांग की है।


सेवा में,

माननीय जे0पी0 नड्डा महोदय,

राष्ट्रीय अध्यक्ष

भारतीय जनता पार्टी नई दिल्ली।

विषयवसीम रिजवी के कुरान आयतों पर योजित याचिका  विवादित

भारत में सुन्नी शिया विवाद हिंसा मंसूबे पर भारत के दुश्मन देशों की

साजिश एवं वसीम रिजवी की हिंसा भड़काने की साजिश एवं राष्ट्रीय

अल्प संख्यक आयोग के नोटिस तथा भारतीय जनता पार्टी द्वारा

निन्दा उपरान्त वसीम रिजवी प्रकरण पर जांच ऐजेन्सियों द्वारा जांच

कराने के संबंध में ।

महोदय,

समाजवादी पार्टी सरकार में नियुक्त शिया वक्फ बोर्ड उत्तर प्रदेश

सरकार के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी द्वारा पवित्र कुरान की आयतो को लेकर

माननीय सर्वोच्च न्यायालय में योजित की गयी । याचिका पर भारत ही नहीं पूरे

विश्व मे घिनौनी हरकत पर उथल पुथल दिखाई पड़ रही है । क्यों कि पूरे विश्व में

अलग -अलग सम्प्रदाय (मत) होने के बावजूद पूरे विश्व के सभी मुसलमानों के

धार्मिक ग्रन्थ पवित्र कुरान पर एक मत से पूर्ण विश्वास है ।

ऐसे में वसीम रिजवी द्वारा पवित्र कुरान पर याचिका योजित करने पर

भारत में दुश्मन देशों की एजेन्सियों की साजिश से इन्कार एवं नजर अन्दाज किया

जाना भारत के नागरिकों के भविष्य को देखते हुए उचित नही होगा । जैसा कि

वसीम रिजवी शिया विचारधारा के है और सुन्नी बाहुल संख्या वाले भारत राष्ट्र में

ऐसी हरकत , शिया

सुन्नी (मत) समप्रदाय के मध्य हिंसा फैलाने की साजिश

नजर आती है । सुन्नी एंव शिया के दानिश्वरों (बुद्धिजीवियों) की सूझ-बूझ

मत होकर आगे आकर वसीम रिजवी द्वारा रची गयी साजिश को नकाम करने का

वसीम

रिजवी के भाली भाँति अवगत होने के बावजूद की पूरे विश्व में सैकड़ो

सालों से शिया सुन्नी हिंसा विवादों से सीरिया , इरान इराक , लीवीया ,लेवनान

पाकिस्तान साऊदी अरबिया, खाड़ी देशो में हजारों लाखो निर्दोष लोग शिया सुन्नी

हिंसा का शिकार हुए है और कई राष्ट्र इस गम्भीर हिंसा से बर्बाद हो चुके है

वसीम रिजवी द्वारा योजित याचिका से भारत विश्व में विश्व गुरू के मिशन की ओर  अग्रणी


2..

होने के प्रयास के मध्य कदम भारत देश में किसी हिंसा को बढ़ाने के लिए

साजिश की ओर इशारा करता है और इसको नजर अन्दाज किया जाना उचित नही

मान्यवर

भारतीय राष्ट्रवादी सेवक संघ आपसे मांग करते हुए आशा करता है कि

भारतीय राजनीति एवं भारतीय अन्य राजनीतिक दलों के विचारों से अलग भारत

की छवि, भारत के भविष्य, भारत के नवीन उदय, भारत के नागरिकों, भारत के

विकास के मद्देनजर विश्व गुरू मिशन पर बाधा उत्पन्न करने, सोची समझी रणनीति

के कारण हिंसा कराने, हिंसा की आड़ से भारत के निर्दोष नागरिको की हत्या की

साजिश, तोड़-फोड़, आगजनी होने पर देश को हो सकता नुकसान तथा वसीम

रिजवी की हरकत से देश भर में हो रहे धरना प्रदर्शनो के कारण सरकारी मशीनरी

के कार्यों में पहुँची बाधा को देखते हुए इस ज्वलनशील मुददे पर साजिश का

पर्दाफाश किया जाना अत्यन्त आवश्यक है।

आपकी पार्टी के नेतृत्व में केन्द्र एवं अन्य राज्यों में सरकारे चल रही

है । केन्द्र एवं राज्यों की सरकारो की छवि को धूमिल करने के प्रयास पर इस

गम्भीर प्रकरण पर आप अपने स्तर से माननीय प्रधान मन्त्री जी एवं भारत सरकार

को अवगत कराने एंव गृहमंत्रालय भारत सरकार तथा राज्यों की खुफिया एजेन्सियो

को सक्रिय करने हेतुं , भारत की उच्च एजेन्सियो से जाँच कराने का कार्य करने का

कष्ट करें जिससे वसीम रिजवी द्वारा की गयी साजिश का पर्दाफाश हो सके ।

विदेशी साजिश के साथ साथ आन्तरिक सियासी साजिश से इंकार

नहीं किया जा सकता क्यों कि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के नोटिस और भारतीय

जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता माननीय श्री शाहनवाज खान द्वारा पार्टी की ओर से

निन्दा की गयी है इसके अतिरिक्त अन्य सियासी दलों का मौन होना सोचनीय

विषय है।

आपके द्वारा इस गम्भीर प्रकरण पर आपके प्रयास से हुई कार्यवाही पर

समूचा भारत राष्ट्र एवं राष्ट्र के नागरिक सदैव -सदैव भविष्य में आपके और

आपकी पार्टी के ऋणी रहेंगे ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग